जहानाबाद में चला चम्पारण के युवा सैंड आर्टिस्ट मधुरेन्द्र का जादू , बालू से उकेरा जल जीवन व हरियाली का संदेश

Font Size

– अदभुत व आकर्षक कला देख मुरीद हुए मुख्यमंत्री नीतीश कुमार

– बालू से बनी जल जीवन और हरियाली की कलाकृति की मुख्यमंत्री ने की सराहना

– प्रकृति का सजीव चित्रण देख भौंचक थे सभी मंत्री व अधिकारी

नीरज कुमार

जहानाबाद : बिहार सरकार के जल जीवन हरियाली अभियान कार्यक्रम के तहत जिला प्रशासन के बुलावे पर बुधवार को पूर्वी चंपारण जिले के घोड़ासहन बिजबनी गांव से आये प्रख्यात सैंड आर्टिस्ट मधुरेन्द्र कुमार की कला देख सभी हतप्रभ रह गए। युवा कलाकार जहानाबाद जिले के काको प्रखंड अंतर्गत अनथुआ गांव में पांच घंटे में अपनी अद्भुत कलाकृतियों का नमूना पेश कर आकर्षण का केंद्र बन गया। अपनी अद्भुत क्षमता से बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को अभिभूत कर दिया। मधुरेन्द्र ने जल जीवन हरियाली अभियान प्रदर्शनी के मुख्य द्वार के बगल में प्रसिद्ध बराबर गुफा के साथ जल जीवन और हरियाली की भव्य कलाकृति बनाकर खूब वाहवाही लूटी।

यह योजना बिहार सरकार की ओर से गत 2 दिसम्बर को शुरू की गई है। इसके तहत प्रदेश के सभी प्राकृतिक और अन्य जलस्रोतों को पुनर्जीवित किया जाएगा। साथ ही वंसरक्षण को भी बढ़ावा दिया जाएगा। इसलिए मधुरेन्द्र में इस योजना के प्रति लोगों को जागरूक करने के लिए जल जीवन हरियाली विषय को चुना और बालू से शानदार आकृति उकेर कर लोगों को इस विषय पर गंभीरता से सोचने को मजबूर कर दिया। यह आकर्षण का केंद्र बना हुआ है। जो भी लोग देख रहा हैं अपने सेलफोन में इसकी तस्वीर को कैद कर रहें हैं।

मजे की बात यह है कि इस आकृति को इतना सजीव बनाया गया है कि इसको देख कर लोगों के कदम बरबस ठिठक जाते हैं। मधुरेन्द्र ने इसमें पेड़ पौधे , झरना, वन्यजीव/प्राणी, और साथ लगते मानव जीवन को भी दर्शाया है। प्रकृति की विविधता को अलग अलग दर्शाने के लिए उन्होंने प्राकृतिक रंगों का इस प्रकार से उपयोग किया कि किसी को भी इसे प्राकृतिक या कृतिम समझने में भूल हो जाये। ऐसा लगा जैसे प्रकृति स्वयं ही अपने स्वरूप में स्थापित है। यह शानदार कला इस बात की द्योतक है कि यह इस युवा सैंड आर्टिस्ट को प्राकृतिक वरदान है और बिहार के चंपारण की धरती को इस कलाकार के रूप में एक अतुलनीय व्यक्तित्त्व मिल गया है।

मधुरेन्द्र का यह योगदान वास्तव में कला के क्षेत्र के लिए ही नहीं वरन जनहित के मुद्दे को आकर्षक तरीके से उजागर करने में भी सराहनीय और यादगार है। मधुरेन्द्र कहते हैं कि उनके लिए प्रकृति और मानव जीवन से संबंधित पहलू सर्वाधिक रुचि का विषय है। इसलिए वे अपनी कला से अक्सर जनहित के मुद्दे को ही उकेरते हैं। समाज में विविध विषयों के प्रति जागरूकता पैदा करना उनका ध्येय है न कि आर्थिक उपार्जन। वे मानते हैं कि प्रकृति ने उन्हें कुछ दिया है तो उन्हें भी इसके संरक्षण के लिए कुछ योगदान करना चाहिए और वे भरसक कोशिश कर रहे हैं। उन्होंने जहानाबाद जिला प्रशासन का उन्हें यह यह अवसर मुहैया कराने के लिए धन्यवाद किया।

उनकी इस कला का प्रदर्शन जहानाबाद के लोगों ने पहली बार देखा और सदा के लिए मुरीद बन गए। सामान्य जन तो क्या मौके पर उपस्थित बिहार सरकार के लघु जल एवं संसाधन मंत्री संजय झा, शिक्षा मंत्री कृष्णनंदन वर्मा, सांसद चंदेश्वर प्रसाद चंद्रवंशी,जिलाधिकारी नवीन कुमार, डीडीसी मुकुल गुप्ता जिला के एसपी मनीष भी इस कला को समझने की बारम्बार कोशिश करते दिखे।

इस अवसर पर मुखिया प्रमिला देवी, इवेंट मैनेजर मृणाल सिंह, समेत सैकड़ों लोंगो ने जल, जीवन और हरियाली की कलाकृति की सराहना करते हुए प्रदेश सरकार की इस पहल की जमकर प्रशंसा की।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: