डीएम रमन कुमार ने किया बाढ़ पीड़ित पंचायतों का सघन दौरा, बेघर हुए परिवारों को पीएम आवास का लाभ मुहैया कराने का दिया आश्वासन

Font Size

बाढ़ पीड़ितों को संयम की जरूरत किसी के बहकावे ना आने की अपील की

जिले के सर्वाधिक बाढ़ प्रभावित पंचायत का डीएम ने लिया जायजा

बाढ़ में ध्वस्त सड़कों पर एक सप्ताह में आवागमन सुचारू करने का विभाग को दिया निर्देश

फसल क्षति पूर्ति के लिए प्रदेश सरकार को लिखा गया

वार्ड सहायतार्थ की राशि सीधा पीड़ित परिवारों के खाते में भेजने के निर्देश

मुखिया अजेय सिंह ने की डीएम रमन कुमार की सहृदयता की प्रशंसा

नीरज कुमार सिंह

मोतिहारी। मोतिहारी जिला के लोकप्रिय जिलाधिकारी रमन कुमार, प्रशिक्षु जिला अधिकारी निखिल कुमार ने सर्वाधिक बाढ़ प्रभावित पताही प्रखंड के विभिन्न पंचायतों का घर-घर घूमकर जयजा लिया। इस दौरान उन्होंने कहा कि बाढ में घर से बेघर हुए सभी पीड़ित परिवार को प्रधानमंत्री आवास योजना का लाभ दिया जाएगा। इज़के लिए टीम बनाई जा रही है, और वह टीम जांच कर प्रतिवेदन सौपेगी। इस दौरान उन्होंने जिहुली पंचायत से मोतिहारी और शिवहर जोड़ने वाली सड़क संपर्क पथ, को तत्काल सुचारू कराने का निर्देश संबंधित विभाग को दिया।

उन्होंने कहा कि बाढ़ प्रभावित जो भी परिवार हैं बाढ़ सहायतार्थ राशि से एक भी परिवार वंचित नहीं किया जाएगा। जलजमाव वाले क्षेत्रों में जल निकासी को लेकर मुखिया अजेय सिंह, सरपंच संघ के अध्यक्ष राघवेंद्र शर्मा और मुन्ना जी, से अपने विचार पानी निकासी को लेकर रखने को कहा ।वहीं बाढ़ में क्षतिग्रस्त हुए गरीब परिवारों की झोपड़ी में जाकर अब तक मिलने वाली सहायतार्थ राशि, स्वास्थ्य संबंधी, और डीडीटी छिड़काव ,और दवा के बारे में जानकारी ली। इस दौरान महिला शकुंतला देवी, ने कहा कि हजूर घर में जांघ भर पानी घुस गइल रहे खाए पिए के सब समान सड़ गेल। 4 दिन मुखिया जी पंचायत भवन में लोग के खाना खिलैलन है। अब के खिलाई। इस पर जिला अधिकारी ने कहा कि जिहुली पंचायत के प्रत्येक परिवार को बाढ़ सहायतार्थ राशि दी जाएगी।

तत्पश्चात डोर टु डोर गांव में घूमते हुए, 1922 में स्थापित गांधी पुस्तकालय, 1934 से पूर्व स्थापित मध्य विद्यालय जिहुली बाजार का जायजा लिया तथा स्थानीय मुखिया अजेय सिंह को एक प्रस्ताव बनाकर इसके लिए भेजने का निर्देश दिया। वहीं उन्होंने सभी ध्वस्त सड़को को देखा और कहा कि प्राकृति की सबसे बड़ी आपदा जिले के जिहुली पंचायत ने झेली है। प्राथमिकता के आधार पर इस पंचायत को लिया गया है।

उन्होंने कहा कि एक सप्ताह के अंदर प्रखंड मुख्यालय और जिला मुख्यालय से जोड़ने वाली सभी सड़कों को सुचारू करा लिया जाएगा। पंचायत भवन पर एंबुलेंस की सुविधा दी गई है, वहां गर्भवती महिलाएं या बीमार लोग सूचना देंगे। वहां से उन्हें प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र ले जाया जाएगा। डॉक्टरों का टीम लगातार इन पंचायतों में दवा और ब्लीचिंग पाउडर का छिड़काव कर रहे हैं। बिजली सुचारू रखने का निर्देश एसडीओ चंदन कुमार को दिया है।

इस दौरान अंचल अधिकारी रोहित कुमार, थानाध्यक्ष विकास तिवारी, वीडियो मनोज कुमार, पदुमकेर पंचायत के मुखिया संगीता देवी, उप मुखिया उमेश साह, वार्ड सदस्य रजनीश कुमार, सुनील सिंह, सहित सैकड़ों लोग जिला अधिकारी के आगमन पर पहुंचे। ऐसा लग रहा था कि कोई भगवान पंचायत में उतरा लेकिन जिलाधिकारी ने अमीर और गरीब में फर्क नहीं करते हुए सबों की व्यथा सुनी और उनकी समस्याओं के निराकरण का भरोसा दिलाया। लोगों में इस उम्मीद उफान पर दिखी की जिलाधिकारी बाढ़ पीड़ितों को उनकी आवश्यकतानुसार सहायता मुहैया कराएंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: