हरियाणा बोर्ड का 10वीं का परीक्षा परिणाम घोषित, लड़कियों ने मारी बाजी

Font Size

भिवानी। हरियाणा विद्यालय शिक्षा बोर्ड ने 10वीं कक्षा का परिणाम घोषित कर दिया है। मार्च माह में 3 लाख 64 हज़ार बच्चों ने 10वीं की परीक्षा दी थी प्रदेश भर में 57.39 फ़ीसदी बच्चे पास हुए हैं। इस परीक्षा में लड़कों की बजाय लड़कियों ने बाजी मारी। कुल 62.17 फ़ीसदी लड़कियां और 53.43 फ़ीसदी लड़के पास हुए हैं।

इस परीक्षा में शहरी की बजाय अधिक ग्रामीण बच्चों ने बाज़ी मारी है।

58.59 फ़ीसदी ग्रामीण और 54.19 फ़ीसदी शहरी बच्चे पास घोषित हुए है।

सरकारी की बजाय प्राइवेट स्कूलों के अधिक बच्चे पास हुए हैं।

52.71 फ़ीसदी सरकारी स्कूलों के और 62.33 फ़ीसदी प्राइवेट स्कूलों के बच्चे पास हुए हैं।

हरियाणा विद्यालय विद्यालय शिक्षा बोर्ड की मार्च-2019 में संचालित सैकेण्डरी (शैक्षिक) परीक्षा का परिणाम 57.39 फीसदी रहा है तथा स्वयंपाठी परीक्षार्थियों का परिणाम 69.80 फीसदी रहा है। इस परीक्षा में 62.17 प्रतिशत लड़कियों की तुलना में 53.43 प्रतिशत ही लडक़े सफलता प्राप्त कर सके हैं। इस प्रकार लड़कियों ने लडक़ों से 8.74 फीसदी ज्यादा पास प्रतिशतता देकर बढ़त हासिल की है।
इस परीक्षा परिणाम की घोषणा बोर्ड अध्यक्ष डॉ. जगबीर सिंह एवं बोर्ड सचिव श्री राजीव प्रसाद, एचसीएस ने संयुक्त रूप से आज यहाँ बोर्ड मुख्यालय पर आयोजित एक प्रेस कांफ्रेंस को सम्बोधित करते हुए की। उन्होंने बताया कि परीक्षार्थी अपने परीक्षा परिणाम आज 17 मई को सायं 04:00 बजे बोर्ड की वेबसाईट www.bseh.org.in एवं www.indiaresults.com पर देख सकते हैं तथा यह परिणाम बोर्ड द्वारा तैयार करवाई गई मोबाईल एप पर भी देखा जा सकता है। इस मोबाईल एप को गूगल प्ले स्टोर में जाने के बाद “Education Board Bhiwani Haryana” सर्च करते हुए डाऊनलोड किया जा सकता है।
बोर्ड अध्यक्ष ने बताया कि इस परीक्षा में प्रथम स्थान पर हिंमाशु, न्यूटन हाई स्कूल, झज्जर, कु. संजू, आशादीप आदर्श हाई स्कूल, करहंस (पानीपत), ईशा देवी, शिव शिक्षा निकेतन वमावि सांघन (कैथल) एवं शालिनी, महर्षि दयानंद पब्लिक स्कूल, नरवाना (जींद) ने 497 अंक अर्जित करके प्राप्त किया है। द्वितीय स्थान – निधि, कैप्टन आर.सी. वमावि शिव नगर, हिसार, रितिका, रावमावि गाजूवाला (फतेहाबाद), तन्नू, आशादीप आदर्श हाई स्कूल, करहंस (पानीपत) एवं दिव्या, सरस्वती हाई स्कूल, ऐलनाबाद (सिरसा) ने 496 अंक अर्जित करके हासिल किया है। उन्होंने आगे बताया कि तृतीय स्थान – एकता, सुरजभान मैमोरियल हाई स्कूल, काकरोड़ (जींद), मुस्कान, एस.एस. जैन कवमावि, सिरसा, साहिल भारद्वाज, नैशनल वमावि, किशनपुरा (पानीपत), छाया, ज्ञान सरोवर विद्या मंदिर हाई स्कूल, जींद, अंशू, एवरेस्ट हाई स्कूल, बराड़ बुआना (जींद), पूजा देवी, आर्य वमावि हैबितपुर (हिसार), शुभांशु कुमार ओझा, सरस्वती वमावि असावरपुर (सोनीपत) एवं निधि, आर्यन सेंट सोफिया हाई स्कूल, भट्टू कलां (फतेहाबाद) ने 495 अंक अर्जित करके पाया है। हरियाणा सरकार का बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ संदेश एक जन-आंदोलन बन गया है और बेटियों ने प्रदेश को गौरवान्वित किया है।
अध्यक्ष ने बताया कि सैकेण्डरी परीक्षा में 3,64,967 परीक्षार्थी प्रविष्ठ हुए थे, जिनमें से 2,09,445 उत्तीर्ण हुए एवं 17,196 परीक्षार्थियों की कम्पार्टमेंट आयी है तथा 1,38,326 परीक्षार्थी अनुत्तीर्ण रहे हैं। इस परीक्षा में 1,99,732 छात्र बैठे थे, जिनमें 1,06,717 पास हुए तथा 1,65,235 प्रविष्ठ छात्राओं में से 1,02,728 पास हुईं।
डॉ. सिंह ने आगे बताया कि इस परीक्षा में राजकीय विद्यालयों की पास प्रतिशतता 52.71 रही तथा प्राईवेट विद्यालयों की पास प्रतिशतता 62.33 रही है। इस परीक्षा में ग्रामीण क्षेत्र के विद्यार्थियों की पास प्रतिशतता 58.59 रही है, जबकि शहरी क्षेत्र के विद्यार्थियों की पास प्रतिशतता 54.19 रही है।
उन्होंने आगे बताया कि सैकेण्डरी परीक्षा के स्वयंपाठी परीक्षार्थियों का परिणाम 69.80 प्रतिशत रहा है। इस परीक्षा में 10,328 परीक्षार्थी प्रविष्ठ हुए, जिनमें से 7,209 पास हुए। इसके अतिरिक्त 2,383 परीक्षार्थियों की कम्पार्टमेंट आयी है तथा 523 परीक्षार्थी अनुत्तीर्ण रहे हैं।
बोर्ड सचिव श्री राजीव प्रसाद, एचसीएस ने बताया कि यह परिणाम 20 मई को सायं 04:00 बजे से संबंधित विद्यालयों/संस्थाओं द्वारा बोर्ड की वेबसाईट पर जाकर अपनी यूजर आईडी व पासवर्ड द्वारा लॉगिन करते हुए डाऊनलोड भी किया जा सकेगा। कोई विद्यालय अगर समय पर परिणाम प्राप्त नहीं करता है तो इसके लिए वह स्वयं जिम्मेवार होगा।
उन्होंने आगे बताया कि इंटरनेट व हैल्पलाईन तथा मोबाईल एप इत्यादि की सुविधा परीक्षार्थियों को परीक्षाफल तुरंत उपलब्ध करवाने के लिए दी जा रही है, इसमें किसी भी प्रकार की तकनीकी खराबी/त्रुटि के लिए बोर्ड कार्यालय जिम्मेवार नहीं होगा। उन्होंने बताया कि स्वयंपाठी परीक्षार्थियों के साथ-साथ विद्यालयी परीक्षार्थियों का परिणाम अनुक्रमांक के आधार पर लिया जा सकता है।
श्री राजीव प्रसाद ने बताया कि इन परीक्षा परिणामों के आधार पर जो परीक्षार्थी अपनी उत्तरपुस्तिकाओं की पुन: जाँच अथवा पुनर्मूल्यांकन करवाना चाहते हैं तो वे ऑनलाईन आवेदन कर सकते हैं। पुन: जाँच/पुनर्मूल्यांकन निर्धारित शुल्क सहित परिणाम घोषित होने की तिथि से 20 दिन तक ऑनलाईन आवेदन कर सकते हैं।
बोर्ड सचिव ने बताया कि इस परीक्षा के परिणाम के आधार पर आगामी पूरक परीक्षा जुलाई-2019 के लिए स्वयंपाठी (प्राईवेट) छात्रों हेतु ऑनलाईन आवेदन करने के लिए 700/- रू० सामान्य शुल्क के साथ पंजीकरण की अंतिम तिथि 25 मई, 2019 से 13 जून, 2019 निर्धारित की गई है। उन्होंने बताया कि विलम्ब शुल्क 100/- रू० के साथ पंजीकरण तिथि 14 जून, 2019 से 18 जून, 2019 रहेगी। इसी प्रकार 300/- रू० विलम्ब शुल्क सहित पंजीकरण तिथियाँ 19 जून, 2019 से 23 जून, 2019 तथा 1000/- रू० विलम्ब शुल्क सहित पंजीकरण तिथियाँ 24 जून, 2019 से 28 जून, 2019 निर्धारित की गई है।
डॉ. जगबीर सिंह एवं श्री राजीव प्रसाद ने सभी भावी परीक्षार्थियों, अभिभावकों एवं अध्यापकों को सैकेण्डरी परीक्षा मार्च-2019 में उत्कृष्ट प्रदर्शन के चलते ढेरों बधाईयाँ दी।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *