हरियाणा में भाजपा के लोकसभा चुनाव प्रभारी कलराज मिश्र ने मोदी समर्थकों को धमकाया !

Font Size

भाजपा की पहली विजय संकल्प जनसभा विवादों में घिरी

लोगों ने कृष्ण पाल गुर्जर के खिलाफ जमकर नारेबाजी की

ग्रामीणों ने गुर्जर के खिलाफ बिगुल फूंका , कहा, मोदी भक्त हैं लेकिन कृष्णपाल कतई पसंद नहीं

कलराज मिश्र भी अपना आपा खो बैठे, कहा, उत्तर प्रदेश होता तो नीचे आकर जवाब देते

कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने की कलराज मिश्र के तौर तरीके की आलोचना 

 

फरीदाबाद, धर्मेन्द्र यादव : सिर मुड़ाते ही ओले पड़ना, फरीदाबाद में यह कहावत उस वक्त सार्थक हो गई जब फरीदाबाद में हुई भाजपा की पहली विजय संकल्प जनसभा विवादों में आ गयी. रविवार को आयोजित इस जनसभा में हरियाणा लोकसभा प्रभारी कलराज मिश्र और केंद्रीय राज्य मंत्री कृष्णपाल गुर्जर के सामने ही लोगों ने कृष्ण पाल गुर्जर के खिलाफ जमकर नारेनाजी की और खिलाफत का बिगुल फूंक दिया. स्थानीय सांसद गुर्जर का विरोध करने वाले ग्रामीणों ने साफ कह दिया कि वह मोदी भक्त हैं मगर कृष्णपाल को सांसद नहीं चाहते. इस पर कलराज मिश्र भी अपना आपा खो बैठे और नारेबाजी करने वाले लोगों को धमकाते हुए लहजे में कहा कि अगर उनका प्रदेश होता तो वह नीचे उतर कर उनका जवाब देते. मिश्र यहीं नहीं रुके बल्कि यह भी कहा कि आप लोगों को शर्म आनी चाहिए. आप लोग मोदी का नाम खराब कर रहे हो, तो वही कृष्ण पाल गुर्जर ने माना कि लोग मोदी के साथ हैं, उनके साथ नहीं है. उल्लेखनीय है कि फरीदाबाद में आज लोकसभा प्रभारी कलराज मिश्र की पहली विजय संकल्प जनसभा थी. इसमें उन्होंने सरकार की उपलब्धियां गिनाई और विरोध के बीच पूर्ण बहुमत से जीत का दावा किया. भाजपा नेता ने पार्टी कार्यकर्ताओं को चुनावी मूल मंत्र भी दिया । भाजपा नेता कलराज मिश्र के इस बयान को कांग्रेस पार्टी ने भाजपा की हिंसक मानसिकता का नमूना बताया है। कांग्रेस पार्टी के मीडिया प्रभारी रणदीप सुरजेवाला में ट्वीट कर श्री मिश्र के भाषण के उस अंश का विडीयो जारी कर उनकी आलोचना की है। कांग्रेस प्रवक्ता ने कहा है कि ” क्या ये ही भाजपा का संदेश , सवाल पूछो तो गोली खाओ ! “

2019 के लोकसभा चुनाव का बिगुल बज चुका है. आज फरीदाबाद में हरियाणा प्रभारी कलराज मिश्र की अध्यक्षता में पहली विजय संकल्प जनसभा की गई मगर उन्हें नहीं पता था कि इस संकल्प जनसभा में लोग मौजूदा सांसद और केंद्रीय राज्य मंत्री कृष्णपाल गुर्जर के खिलाफ विरोध का संकल्प लेकर पहुंचे हैं. इसका पता प्रभारी कलराज मिश्र को कार्यक्रम शुरू होते ही लग गया जब मंच से एक वक्ता ने मंत्री कृष्णपाल गुर्जर राग अलापना शुरू किया तभी जनसभा में बैठे लोगों ने खड़े होकर विरोध करना शुरू कर दिया. लोगों ने कहा कि कृष्ण पाल गुर्जर का नाम लेना बंद करो सिर्फ मोदी का नाम लो. वह मोदी को चाहते हैं कृष्णपाल को नहीं। बस फिर क्या था पूरी जनसभा में हंगामा खड़ा हो गया . लोग कुर्सियों पर खड़े होकर केंद्रीय राज्य मंत्री कृष्णपाल गुर्जर का जमकर विरोध करने लगे और यह सब हरियाणा प्रभारी कलराज मिश्र केंद्रीय राज्य मंत्री कृष्णपाल गुर्जर, बडकल विधायक सीमा त्रिखा, बल्लभगढ़ विधायक मूलचंद शर्मा सहित तमाम भाजपा के बड़े नेताओं और कार्यकर्ताओं के सामने हो रहा था ।
करीब आधे घंटे तक चले इस हाई वोल्टेज ड्रामा के बाद खुद कलराज मिश्र माइक पर संबोधन करने पहुंचे और उन्होंने विरोध करने वाले लोगों को धमकी देते हुए कहा कि अगर उनका प्रदेश होता तो वहीं लोगों को उतर कर जवाब देते । मिश्र की इस बात का समर्थन करते हुए मंच पर मौजूद भाजपा पदाधिकारियों व कार्यकर्ताओं ने तालियाँ भी बजाई . कार्यक्रम की बात करें तो लोकसभा प्रभारी कलराज मिश्र मोदी सरकार की उपलब्धियां गिनाने और 2019 के लोकसभा चुनावों की तैयारियों के बारे में चर्चा करने के लिए कार्यकर्ताओं के पास पहुंचे थे. यहां उन्होंने चुनावों से संबंधित कार्यकर्ताओं को मूल मंत्र दिया।
 
आज की घटना पर जन पत्रकारों ने कलराज मिश्र से प्रतिक्रया मांगी तो उन्होंने नारेबाजी की घटना को विरोधियों का षड्यंत्र बता दिया. उन्होंने आरोप लगाया की कुछ विरोधी लोग हैं जो आज की जनसभा को सफल नहीं होने देना चाहते थे इसलिए यहाँ लोगों को उकसाया गया. उन्होंने दोहराया की आज जिस तरह हमने सन्देश दिया है उससे वे लोग अब सम्जः भी गए होंगे और आगे से ऐसी घटना अब नहीं होगी. 
 
जनसभा की ख़ास बात यह भी रही कि कृष्णपाल गुर्जर के विरोधी एवं हरियाणा के उद्योग मंत्री विपुल गोयल नहीं पहुंचे. इस पर जब लोकसभा प्रभारी से सवाल किया गया तो उन्होंने कहा कि यहाँ सभी विधायक, पार्षद, महासचिव मेयर, व पार्षद मौजूद थे. विपुल गोयल को कहीं और भेजा गया होगा. क्योंकि यह विधानसभा का कार्यक्रम था इसलिए वे कहीं और विधानसभा में गए होंगे. 
फरीदाबाद लोकसभा क्षेत्र से टिकट देने का जब प्रश्न किया गया तो उन्होंने इसे टालने के लहजे में कहा जब घोषणा हो जायेगी तब पत्रकारों को पता चल जाएगा. जनसभा में कम उपस्थिति को लेकर उन्होंने कहा कि यह तो आरम्भ था और सभी जगह इससे भी अधिक लोग शामिल हो रहे हैं. 
 

देखिये कलराज मिश्र ने नारेबाजी करने वालों को क्या कहा ? https://youtu.be/SRkg_KKi784

 
वहीं मंच पर बैठकर अपनी ही आंखों से अपना विरोध देख रहे कृष्ण पाल गुर्जर ने पत्रकारों से बात करते हुए कहा कि आज का कार्यक्रम लोकसभा चुनाव की तैयारियों और आगे की रणनीति को लेकर था. इसमें कुछ लोगों ने विरोध किया. सब अपने ही लोग हैं और कोई खास विरोध नहीं है. वहीं कृष्ण पाल गुर्जर ने माना यह सब लोग मोदी के साथ हैं, कमल के साथ हैं, जिससे साफ हुआ कि उनके साथ कोई भी नहीं है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: