रतलाम में मुजफ्फरपुर जैसा कांड, शेल्टर होम में लड़कियों का यौन उत्पीड़न

Font Size

रतलाम : मध्य प्रदेश के रतलाम में भी बिहार के मुजफ्फरपुर शेल्टर होम कांड जैसा मामला सामने आया है। जहां एक बालिका गृह में रहने वाली लड़कियों के साथ दरिंदगी की जाती थी। विरोध करने पर उनके साथ मारपीट होती थी। इस बात का खुलासा शेल्टर होम से भागने वाली लड़कियों ने खुद किया। लड़कियों का आरोप है कि शेल्टर होम की संचालिका का पति उनका यौन उत्पीड़न करता था। लड़की के बयान मजिस्ट्रेट ने दर्ज कर लिए हैं।

मामला रतलाम के जावरा का है। जहां प्रतापनगर में कुंदन वेलफेयर आर्गेनाइजेशन कुंदन कुटीर बालिका गृह के नाम से एक शेल्टर होम चलाती थी। बीती 24 जनवरी को वहां रहने वाली कुछ लड़कियां सुबह के वक्त बाथरूम की खिड़की तोड़कर वहां से भाग निकली. इस घटना से वहां हंगामा मच गया। बाद में लड़िकयों को बरामद कर लिया गया।

मामले की मजिस्ट्रियल जांच शुरू हुई। लड़कियों ने मजिस्ट्रेट के सामने बयान दर्ज कराते हुए बताया कि संचालिका का पति उनका यौन उत्पीड़न करता है। लड़कियों के बयान को गंभीरता से लेते हुए पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया।

बुधवार को कार्रवाई करते हुए पुलिस ने शेल्टर होम की संस्थापिका और वर्तमान में बाल कल्याण समिति अध्यक्ष डॉ. रचना भारतीय को उसके पति ओमप्रकाश भारतीय, वर्तमान अध्यक्ष संजय जैन और सचिव दिलीप बरैया समेत गिरफ्तार कर लिया।

इस मामले में जिलाधिकारी रुचिका चौहान ने खुद सख्त कार्रवाई के आदेश दिए हैं। डीएम चौहान के मुताबिक डॉ. रचना भारतीय खुद शराब पीकर लड़कियों के साथ मारपीट करती थी। उसका पति ओमप्रकाश लड़कियों का यौन उत्पीड़न करता था। डीएम के आदेश पर सभी लड़कियों का मेडिकल कराया गया है। जहां एक लड़की गर्भवती पाई गई है।

हालांकि अधिकारियों का कहना है कि वह लड़की इसी अवस्था में शेल्टर होम आई थी। पुलिस ने शेल्टर होम का रिकॉर्ड जब्त कर लिया है। इस मामले का खुलासा होने के बाद डॉ. रचना भारतीय के खिलाफ कार्रवाई किए जाने के अलावा पूर्व जिला महिला सशक्तिकरण अधिकारी रवींद्र मिश्रा को निलंबित करने की कार्रवाई शुरू हो गई है। आरोप ये भी है कि रचना भारतीय शेल्टर होम में होने वाली ज्यादती की घटनाओं को बाहर आने नहीं देती थी। उसका पति लगातार लड़कियों पर ज्यादती करता था। वे लड़कियों को धमकाते थे. मारपीट करते थे।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *