फिर विवादों में घिरी शरद सुंदरी प्रतियोगिता, सुंदरियों ने लगाए फिक्सिंग के आरोप

Font Size

मनाली : कहते हैं जहां सुंदरता कराहती-रोती है वहां की प्रगति थम जाती है। सुंदरता एक वरदान है और इसके आंसू जिस धरा पर गिरें वह धरा ही अपवित्र हो जाती है। कई तरह की विपदाओं से वह भूखंड घिर जाता है। हर बार की तरह इस बार भी देवभूमि में सुंदरता रोई है। राष्ट्र स्तरीय मनाली शरदोत्सव में सुंदरियों ने इस बार फिर शरद सुंदरी प्रतियोगिता को कटघरे में खड़ा कर दिया है। इस प्रतियोगिता में फिक्सिंग के आरोप लगाते हुए कई सुंदरियों ने कहा है कि इस तरह की धांधली से देवभूमि कलंकित हो रही है। हर बार ऐसा हो रहा है और बार-बार हुआ तो ऐसी प्रतियोगिता ही औचित्यहीन होकर रह जाएगी। विवाद थमने का नाम नहीं ले रहा है।

28 युवतियों ने लिया था प्रतियोगिता में भाग

विंटर क्वीन का ताज सिर पर सजने की उम्मीद से 28 युवतियों ने इस प्रतियोगिता में भाग लिया लेकिन प्रतियोगिता के दौरान हुई कई बातों से उन्हें ऐसा प्रतीत हुआ कि पहले से ही सब कुछ फिक्स कर रखा था और उन्हें बार-बार सिर्फ नौटंकी के लिए ही स्टेज पर लाया जा रहा था। इस बात का एहसास लड़कियों को तब हुआ जब उन्हें 5 जनवरी को रैंप पर उतारा गया। स्टेज पर टाइटल्स बांटे हुए लड़कियों ने एक बदली हुई लिस्ट देखकर कुछ संदेह भी जताया।

स्टेज पर किन्हीं और लोगों को दे दिए टाइटल्स

दरअसल 2 जनवरी को लड़कियों को मनाली के वाइवज रेस्तरां में डिनर के लिए ले जाया गया था और वहीं कुछ प्रतियोगिता के जरिए टाइटल्स चुन लिए गए थे। 5 जनवरी की सुबह भी होटल में लड़कियों से उन टाइटल्स को लेकर कंफर्मेशन ली गई थी लेकिन स्टेज पर किन्हीं और लोगों को वो टाइटल्स दे दिए गए परंतु टॉप 10 की लिस्ट स्टेज पर नहीं बताई गई और टॉप 10 लिस्ट में अपने नाम की उम्मीद लिए लड़कियां टाइटल्स में हुई गड़बड़ी को लेकर भी चुप रहीं। कुछ प्रतिभागियों के तो इस प्रकरण के चलते आंसू तक छलक आए।

पहले दी टॉप 10 की जानकारी, फिर बना दी टॉप 11 की सूची

6 जनवरी को जब टॉप 10 बताए जाने थे तो दोपहर को होटल के हाल में ही लड़कियों को बुलाकर इसकी जानकारी दी गई। 12 बजकर 49 मिनट पर लड़कियों को बुलाकर बताया गया। इसके बाद लड़कियों को किसी भी तरह की कोई जानकारी नहीं दी गई लेकिन व्हाट्स एप पर बने मीडिया ग्रुप में 1 बजकर 14 मिनट पर एस.डी.एम. मनाली रमन घरसंगी द्वारा एक लिस्ट भेजी गई, जिसमें लिखा था कि टॉप 11 लिस्ट बनी है और 11वें नंबर पर उस लड़की का नाम दर्शाया गया जो होटल में बताया ही नहीं गया था।

ऐसी धांधली नहीं होगी बर्दाश्त

कई सुंदरियों ने कहा कि इस तरह की धांधली को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। ऐसी धांधली हर साल हो रही है और इससे यह प्रतियोगिता ही औचित्यहीन हो रही है। कई सुंदरियों ने मीडिया को जारी अपने बयान में कहा है कि फाइनल लिस्ट में 10 प्रतिभागी होने थे लेकिन उसमें आखिरी समय पर 11 नाम आ गए। 11वें नंबर पर उस लड़की का नाम भी आया जिसे रनरअप घोषित किया गया। ऐसी धांधली इस तरह की प्रतियोगिताओं को विवादों में लाती है। सुंदरियों ने कहा कि जहां सुंदरता रोती है वहां किसी तरह की बेहतरी की उम्मीद नहीं की जा सकती।

क्या बोले एस.डी.एम. मनाली

एस.डी.एम. मनाली रमन घरसंगी ने बताया कि विंटर कार्निवाल 2 से 6 जनवरी तक मनाया गया। किसी भी प्रतियोगिता में किसी तरह की कोई धांधली नहीं हुई है। निर्णायक मंडल में शामिल सभी सदस्यों ने निष्पक्ष कार्य किया है। किसी प्रतिभागी को कोई आशंका है तो वे मेरे कार्यालय में आकर अपनी गलतफहमी दूर कर सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: