वैष्णाो देवी में रोपवे सुविधा शुरू : पहले दिन ही उमड़ी हजारों की भीड़

Font Size

कटरा। लंबे समय से प्रतीक्षित वैष्णो देवी से भैरो घाटी के बीच सोमवार को रोपवे सेवा का उद्घाटन राजभवन से जम्मू कश्मीर के राज्यपाल सत्यपाल मालिक ने किया। खबर है कि बड़ी संख्या में श्रद्धालु इस सेवा का उपयोग कर रहे हैं। पहले ही दिन काउंटरों पर भारी भीड़ देखने को मिली। शारीरिक रूप से कमजोर लोगों को इससे अब माता और भैरो बाबा के दर्शन करना बेहद आसान और सुविधाजनक भी हो गया। यह सुरक्षित और कम समय वाली सेवा स्विट्जरलैंड की कम्पनी के सहयोग से स्थापित की गई है।

मीडिया की खबर के अनुसार कतारबद्ध श्रद्धालु मात्र 100 रुपए में अपनी पर्ची लेकर इस सफर का आनंद लेने के लिए उत्सुक नजर आए। श्रद्धालुओं का उत्साह देखते ही बन रहा था। जम्मू में केबल कार सेवा अपनी तरह की पहली सेवा है और इस कारण से भी यात्रियों में जोश दिख रहा है। भवन से भैरोघाटी तक की तीन किलोमीटर की खड़ी चढ़ाई का सफर अब आसान हो गया। तीन घंटे का सफर अब मात्र तीन मिनट में पूरा हो रहा है।

बताया जाता है कि रविवार को ही इस सेवा का ट्रायल किया गया था। इसमें यात्रियों को लेकर भवन तक निशुल्क ले जाया गया था। वहीं सोमवार को उद्घाटन होने के बाद से यात्रियों को प्रति सवारी रूपये 100 का भुगतान कर इस सेवा का लाभ मिल रहा है। उम्मीद है कि सोमवार को करीब 6000 यात्रियों द्वारा इस सेवा का लाभ लिया जाएगा।

इस प्रकार की सेवा हरिद्वार स्थित माता मनसा देवी के दर्शन सहित कुछ अन्य स्थानों पर पिछले कई वर्षों से है लेकिन माता वैष्णो धाम में यह सुविधा नहीं थी। लोग वर्षों से इसकी आवश्यकता महसूस कर रहे थे। माता वैष्णो धाम की भौगोलिक स्थिति बेहद कठिन है इसलिए यहाँ रोप वे बनाना थोड़ा दुर्गम कार्य था। इसके लिए स्विट्जरलैंड की एक कंपनी को ठेका दिया गया था जो कई वर्षों में बनकर तैयार किया गया है।

माता वैष्णो श्राइन बोर्ड के सीईओ सिमरनदीप सिंह के अनुसार यहाँ बड़ी संख्या में श्रद्धालु आते हैं । अब तक इस वर्ष 80 लाख लोग माता के दर्शन कर चुके हैं। इसलिए इस रोपवे की उपयोगिता यहां के लिये बहुत अधिक हो गयी है। खास कर बुजुर्ग, महिला बच्चे और शारीरिक रूप से दिव्यांग लोगों के लिए बाबा भैरो के दर्शन को जाना बेहद कठिन था लेकिन इस सेवा से अब उन्हें मायूसी हाथ लगेगी और उनकी यह यात्रा पूरी हो सकेगी।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *