अंतरराष्‍ट्रीय एसएमई सम्‍मेलन में पहुंचे 37 देशों के लघु उद्यमी

Font Size

भारत के 400 से अधिक उद्यमी भी भाग ले रहे हैं

‘सीमाओं से आगे’ नामक एक खादी फैशन शो का भी आयोजन

पोलैंड के सबसे अधिक संख्‍या में भागीदार

सुभाष चौधरी/प्रधान संपादक 

नई दिल्‍ली :  22 से 24 अप्रैल, 2018 तक आयोजित किए जा रहे अब तक के पहले अंतरराष्‍ट्रीय एसएमई सम्‍मेलन-2018 में 37 देशों के प्रतिनिधिमंडल भाग ले रहे हैं। भाग लेने वाले प्रमुख देशों में ऑस्‍ट्रेलिया, ऑस्ट्रिया, फ्रांस, इंडोनेशिया, इटली, केन्‍या, कोरिया, मलेशिया, मोरक्‍को, नाइजीरिया, फिलीपींस, पोलैंड, रूस, स्‍पेन, श्रीलंका, दक्षिण अफ्रीका एवं यूएई शामिल हैं। इन देशों के प्रतिनिधिमंडल कृषि, स्‍वास्‍थ्‍य देखभाल, रणनीतिक रक्षा प्रशिक्षण, शिक्षा, लॉजिस्टिक, डिजिटल मनोरंजन एवं अपशिष्‍ट प्रबंधन के क्षेत्रों में अपने देशों के लघु उद्यमों का प्रतिनिधित्‍व कर रहे हैं। इस सम्‍मेलन में भारत के 400 से अधिक उद्यमी भी भाग ले रहे हैं।

सम्‍मेलन के दौरान ‘सीमाओं से आगे’ नामक एक खादी फैशन शो का भी आयोजन किया जाएगा। इस शो को भारतीय फैशन डिजाइन परिषद के सुनील शेट्टी द्वारा क्‍यूरेट किया जा रहा है, जिसमें रोहित बाल, अंजू मोदी, पायल जैन एवं पूनम भगत की खादी के डिजाइन प्रदर्शित किए जा रहे हैं। इस सम्‍मेलन में महिला उद्यमियों के लिए भी एक विशेष सत्र रखा गया है, जहां सफल महिला व्‍यवसायी महिला उद्यमियों के लिए टिकाऊ आजीविका के निर्माण पर चर्चा करेंगी।

भारत एवं विश्‍व के लगभग 150 व्‍यवसाय एवं उत्‍पादों के स्‍टॉल

एमएसएमई क्षेत्र भारतीय अर्थव्‍यवस्‍था के सबसे गतिशील क्षेत्रों के रूप में उभरा है और अपशिष्‍ट प्रबंधन, रत्‍न एवं जवाहरात, कृषि एवं खाद्य प्रसंस्‍करण तथा ऑटोमोटिव उद्योग जैसे विविध क्षेत्रों में व्‍यवसाय करने की सरलता के कारण विश्‍व भर में इसने अपनी पहचान बनाई है। सम्‍मेलन के दौरान भारत एवं विश्‍व के लगभग 150 प्रदर्शकों ने अपने व्‍यवसाय एवं उत्‍पादों को प्रदर्शित करते हुए स्‍टॉल लगाए हैं। उद्घाटन समारोह के दौरान भारत के 35 ‘छोटे दिग्गज’ उद्यमों को केन्द्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने सम्‍मानित किया। जिन कंपनियों को सम्‍मानित किया गया, वे लॉजिस्टिक्‍स, जैव प्रौद्योगिकी, फार्मा, सेमी कंडक्‍टर, कपड़ा, रत्‍न एवं जवाहरात, सुरक्षा एवं रसायन क्षेत्रों से संबंधित हैं।

केन्द्रीय मंत्री  ने उम्‍मीद जताई कि इस प्रकार के सम्‍मेलन सभी क्षेत्रों के बीच एक सेतु के रूप में कार्य करेंगे तथा यह इस देश के युवाओं के लिए रोजगार के सृजन में इसके जन सांख्यिकीय लाभ का उपयोग करने में भारत की मदद भी करेगा।

पोलैंड के प्रतिनिधिमंडल ने सबसे अधिक संख्‍या में भागीदार हैं और इसका नेतृत्‍व सोसोनीएक के महापौर अर्काडियास चेसेंन्स्की ने किया है। सोसोनीएक दक्षिणी पोलैंड का औद्योगिक शहर है। इस अवसर पर छोटे और मध्यम उद्यमों (विश्व संघ) के विश्व संघ के अध्यक्ष गियानफ्रान्को तेरेन्ज़ी, भारत के एसएमई फोरम के अध्यक्ष प्रहलाद कक्‍कड़, सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यम मंत्रालय(एमएसएमई) के सचिव डॉ. अरुण कुमार पांडा, खादी और ग्रामोद्योग आयोग के अध्यक्ष और भारत के क्‍वॉयर बोर्ड के अध्यक्ष भी मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You cannot copy content of this page
%d bloggers like this: