राजनीतिक स्वार्थ के लिए हिसार इंटरनेशनल एयरपोर्ट में महाराजा अग्रसेन के नाम का इस्तेमाल : अशोक बुवानीवाला

Font Size


-केंद्र सरकार ने ऐसी किसी भी योजना से किया है इनकार


-मनोहर सरकार ने अग्रवाल समाज की भावनाओं से किया खिलवाड़


पानीपत। अग्रवाल वैश्य समाज संस्था के प्रदेश अध्यक्ष अशोक बुवानीवाला ने इस बात पर रोष जाहिर किया है कि हिसार में महाराजा अग्रसेन जी के नाम से इंटरनेशनल एयरपोर्ट बनाने की केंद्र सरकार की कोई योजना नहीं है। फिर भी उनके नाम से हरियाणा की मनोहर सरकार ने महाराजा अग्रसेन के नाम से देश और दुनिया में बसे अग्रवाल समाज के लोगों की भावनाओं से खिलवाड़ किया। उनके नाम को इस्तेमाल अपने राजनीतिक स्वार्थ साधने के लिए किया।


यहां पत्रकारों से बातचीत में अशोक बुवानीवाला ने तथ्यों के आधार पर कहा कि हिसार में हवाई अड्डे का नाम महाराजा अग्रसेन जी के नाम पर रखा गया। अग्रवाल समाज की ओर से यह मांग उठाई जा रही थी। सरकार ने अग्रवाल समाज को खुश करने के लिए 26 जुलाई 2021 को मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने घोषणा की थी कि हिसार हवाई अड्डे का नाम महाराजा अग्रसेन जी के नाम पर रखा जाएगा। इसका नाम बदलकर महाराजा अग्रसेन इंटरनेशनल एयरपोर्ट कर दिया गया है। अशोक बुवानीवाला ने कहा कि मनोहर सरकार हिसार एयरपोर्ट से इंटरनेशनल हवाई जहाज उड़ाने के सपने देख रही थी, जबकि केंद्र सरकार के जवाब ने साफ कर दिया कि ऐसी कोई योजना ही नहीं है।


बुवानीवाला ने जानकारी दी कि हिसार के सांसद बृजेन्द्र सिंह ने संसद में सवाल किया था कि हिसार में महाराजा अग्रसेन इंटरनेशनल एयरपोर्ट का क्या स्टेटस है। इसके जवाब में नागरिक उड्डयन मंत्रालय ने जवाब दिया कि मंत्रालय की फिलहाल ऐसी कोई योजना नहीं है। हिसार एयरपोर्ट को उड़ान योजना के तहत विकसित किया जा रहा है। यहां से सिर्फ घरेलू विमान ही उड़ेंगे। मंत्रालय ने यह भी जवाब दिया कि अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट के लिए कुछ अपने नियम होते हैं।


अपनी ही पार्टी के सांसद के सवाल के जवाब के बाद मुख्यमंत्री मनोहर लाल द्वारा इस पर कोई टिप्पणी नहीं करना कई सवालों को जन्म देता है। हरियाणा विधानसभा में मनोहर सरकार ने हरियाणा विधानसभा में दावे के साथ कहा था कि हिसार में अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट विकसित किया जा रहा है। कहने को तो हिसार एयरपोर्ट के रनवे को 10 हजार फीट तक अंतरराष्ट्रीय मानकों के हिसाब से विकसित किये जाने का दावा किया गया। रनवे की सुरक्षा के लिए चाहरदीवारी बनाने को करीब 18 करोड़ का वर्क ऑर्डर जारी किया गया।


अशोक बुवानीवाला ने कहा कि हरियाणा की मनोहर सरकार ने इस अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट का नाम महाराजा अग्रसेन जी के नाम पर रखने से पूर्व केंद्र सरकार से अनुमति क्यों नहीं ली। जबकि सरकार को भी पता है कि एविएशन से संबंधित सभी कार्य नागरिक उड्डययन मंत्रालय के अधीन होते हैं। उन्होंने कहा कि सरकार ने इस तरह से हवा में बातें करे ना केवल भारत के बल्कि दुनियाभर में बसे अग्रवाल समाज के लोगों की भावनाओं को ठेस पहुंचाई है।

महाराजा अग्रसेन जी के नाम से अपनी राजनीति चमकाने का प्रयास किया है। श्री बुवानीवाला ने यह भी कहा कि एयरपोर्ट के आसपास राजनीतिक पहुंच वाले और कुछ राजनीतिक लोगों ने जमीनों के भाव बढ़वाने के नाम पर महाराजा अग्रसेन के नाम से अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट बनाने के दावे किए गए। ऐसा करके करोड़ों के वारे-न्यारे अब तक कर लिए गए हैं। उन्होंने कहा कि हरियाणा सरकार इस बाबत अग्रवाल समाज के समक्ष खेद प्रकट करे।
इस अवसर पर अग्रवाल वैश्य समाज के प्रदेश महामंत्री राजेश सिंगला, प्रदेश उपाध्यक्ष अमरनाथ गुप्ता, प्रदेश संगठन मंत्री विकास गर्ग, करनाल लोकसभा के प्रधान प्रवीण गुप्ता, पानीपत जिला अध्यक्ष तरसेम बंसल मौजूद रहे।

Leave a Reply

%d bloggers like this: