जुरहरा में सर्राफा व्यावसायी की दुकान से 95 किलो चांदी व 450 ग्राम सोना चोरी होने का मामला : पूरे जिले में बंद हो उग्र आंदोलन की दी चेतावनी

Font Size

8 दिन के बाद भी पुलिस के हाथ पूरी तरह खाली

व्यापार महासंघ भरतपुर के पदाधिकारी पहुंचे जुरहरा

जुरहरा, रेखचन्द्र भारद्वाज: कस्बे में गत 27 दिसंबर मंगलवार की सुबह एक प्रतिष्ठित सर्राफ़ा व्यवसाई महेंद्र जैन की दुकान का शटर तोड़कर दुकान से 95 किलो चांदी व 450 ग्राम सोने को पांच पोटलियों में भरकर चोरों के द्वारा चोरी किए जाने के मामले को 8 दिन का समय बीत जाने के बावजूद भी जुरहरा थाना पुलिस के हाथ पूरी तरह खाली हैं ।

वहीं जुरहरा थाना पुलिस के द्वारा 8 दिन में भी कोई सार्थक कार्यवाही नहीं किए जाने के चलते जुरहरा कस्बे के व्यापारियों में रोष व्याप्त है। इसी क्रम में मंगलवार को व्यापार महासंघ भरतपुर के महामंत्री नरेंद्र गोयल, जिला प्रवक्ता विपुल शर्मा, जिला कोषाध्यक्ष जयप्रकाश बजाज व उपाध्यक्ष प्रमोद सर्राफ जुरहरा पहुंचे और कस्बे की खण्डेलवाल धर्मशाला में एकत्रित कस्बे के व्यापारियों से उक्त मामले में आगे की कार्रवाई किए जाने पर विचार- विमर्श किया।

जुरहरा में सर्राफा व्यावसायी की दुकान से 95 किलो चांदी व 450 ग्राम सोना चोरी होने का मामला : पूरे जिले में बंद हो उग्र आंदोलन की दी चेतावनी 2

भरतपुर से आए व्यापार मंडल के पदाधिकारियों को चोरी की घटना व उसके बाद के पूरे घटनाक्रम के बारे में कस्बा निवासी सोनू खंडेलवाल (भगत जी) व जिला पार्षद प्रतिनिधि खुर्शीद अहमद के द्वारा अवगत कराया गया। भरतपुर व्यापार महासंघ के महामंत्री नरेंद्र गोयल ने कस्बे के व्यापारियों को संबोधित करते हुए कहा कि चोरी की इतनी बड़ी वारदात हो जाने के बाद भी पुलिस द्वारा चोरों का पता नहीं लगा पाना काफी शर्मनाक है । इससे अपराधियों के हौसले बुलंद हो रहे हैं यदि वारदातों का खुलासा नहीं हो पाता है तो व्यापारियों में भय का माहौल पैदा होगा। उन्होंने बताया कि यदि पुलिस द्वारा जल्द ही चोरों की गिरफ्तारी व माल की बरामदगी नहीं की जाती है तो पूरे जिले में पुलिस व प्रशासन के खिलाफ आंदोलन किया जाएगा जिसकी जिम्मेदारी प्रशासन की होगी।

जुरहरा में सर्राफा व्यावसायी की दुकान से 95 किलो चांदी व 450 ग्राम सोना चोरी होने का मामला : पूरे जिले में बंद हो उग्र आंदोलन की दी चेतावनी 3

उन्होंने व्यापारियों से पूरी तरह एकता बनाए रखते हुए घटना का खुलासा नहीं होने पर बड़े आंदोलन के लिए तैयार रहने का आह्वान किया। वहीं व्यापार मंडल के जिला प्रवक्ता विपुल शर्मा ने भी पुलिस-प्रशासन से जिले में चोरी, ठगी व लूट की वारदातों पर पूरी तरह अंकुश लगाने की मांग करते हुए जुरहरा में हुई चोरी की बड़ी घटना का खुलासा करने की मांग की।

उन्होंने बताया यदि पुलिस-प्रशासन चोरी का खुलासा नहीं कर पाता है तो उग्र आंदोलन व धरना-प्रदर्शन करने के लिए व्यापार महासंघ मजबूर हो जाएगा पूरे जिले में बंद रखकर आंदोलन किया जाएगा जिसकी जिम्मेदारी प्रशासन की होगी। वहीं व्यापार मंडल जुरहरा की ओर से एडिशनल एसपी कामां हिम्मत सिंह को व्यापारियों के खण्डेलवाल धर्मशाला में एकत्रित होने की सूचना दी गई जिस पर वे जुरहरा थाना अधिकारी जयप्रकाश सिंह सहित व्यापारियों के पास जुरहरा पहुंचे और व्यापारियों को जल्द से जल्द घटना का खुलासा किए जाने का आश्वासन दिया।

जुरहरा में सर्राफा व्यावसायी की दुकान से 95 किलो चांदी व 450 ग्राम सोना चोरी होने का मामला : पूरे जिले में बंद हो उग्र आंदोलन की दी चेतावनी 4

एडिशनल एसपी हिम्मत सिंह ने बताया कि उनकी टीमें पूरी लगन के साथ काम में लगी हुई हैं जो जल्द ही चोरी के आरोपियों को गिरफ्तार कर माल को भी बरामद करने में सफल होंगी। वहीं जुरहरा थानाधिकारी जयप्रकाश सिंह ने भी व्यापारियों को भरोसा दिलाया कि जब तक घटना का खुलासा नहीं कर दिया जाता तब तक वे चैन से नहीं बैठेंगे।

इस मौके पर व्यापार महासंघ भरतपुर के पदाधिकारियों के अलावा पूर्व प्रधान रविंद्र जैन, बीजेपी नेता जुम्मे खान, फंटूलाल, कांग्रेस नेता गजेन्द्र जाट, स्थानीय व्यापार संघ से सुभाष चंद गौड़, पूरन सैनी, प्रमोद खंडेलवाल, प्रदीप जैन उर्फ कुक्की, डॉ. सोहनलाल शर्मा, राकेश जैन, कैलाश जैन, रिखबचंद जैन, लोकेश जैन, सोनू सोनी, मनोज खंडेलवाल, श्यामबाबू खण्डेलवाल, शैलेन्द्र जैन, ललित खण्डेलवाल, रघुवीर खंडेलवाल, पारस जैन, महेश जैन, हितेश खंडेलवाल, अनिल जमालगढिया, ओमप्रकाश मोदी, गोपाल बडोदिया सहित काफी संख्या में कस्बे का व्यापारी वर्ग व अन्य लोग मौजूद रहे।

धरना-प्रदर्शन के बाद पुलिस ने लिया था 5 दिन का समय- जहां 27 दिसंबर मंगलवार को घटना से गुस्साए कस्बेवासियों ने सैकड़ों की संख्या में एकत्रित होकर थाने पर पहुंचकर पुलिस अधिकारियों के समक्ष अपना विरोध जताया था और थाने के सामने ही धरने पर बैठ गए थे लेकिन 28 दिसम्बर बुधवार को एडिशनल एसपी हिम्मत सिंह ने 5 दिन में घटना का खुलासा करने का आश्वासन देकर धरने को समाप्त करा दिया था।

%d bloggers like this: