डॉक्टरों ने बांड नीति का किया विरोध

Font Size

गुरुग्राम 4 दिसंबर आईएमए गुड़गांव के वार्षिक समारोह का आयोजन कोरस बैंक्वेट सेक्टर 14 में किया गया।डॉ एनपीएस वर्मा आईएमए अध्यक्ष ने कहा 200 से अधिक डॉक्टरों ने मेडिकल छात्रों के विरोध का समर्थन करते हुए फ्लैश लाइट लेकर बांड नीति के खिलाफ नारे लगाये।हरियाणा सरकार की बांड नीति के खिलाफ एक महिन से विरोध चल रहा है।

आईएमए सचिव डॉ सारिका वर्मा ने कहा अब तो स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने भी बांड नीति को 1 साल के लिए स्थगित करने के लिए मुख्यमंत्री सीएम खट्टर को पत्र लिखा है।उनका भी कहना है ये नीति लागू करने से स्वास्थ्य सेवाएं सुधरेंगे नहीं बल्की ज्यादा कन्फ्यूजन फेलेगा। आईएमए जेडीएन के राष्ट्रीय सचिव डॉ करण जुनेजा ने कहा
हरियाणा सरकारी मेडिकल कॉलेज के छात्र एक माहीने से सरकार से अनुरोध कर रहे हैं कि उनकी ड्यूटी एक या दो साल के लिए हरियाणा के सरकारी अस्पताल में लगाएं लेकिन सरकार जबरन मेडिकल छात्रों से लाखों रुपये कैपिटेशन फीस की तरह लेने पर अटल हैl

डॉ अजय अरोड़ा ने कहा 30 लाख की बॉन्ड पॉलिसी हरियाणा के मेडिकल कॉलेज का स्तर गिरा देगा और नीट परीक्षा के उच्च रैंकिंग वाले बच्चे हरियाणा कॉलेज में प्रवेश पसंद नहीं करेंगेl
डॉ वंदना नरूला का कहना है आईएमए शुरू से गांव और कसबों में सरकार क्लिनिक और छोटे अस्पताल बनाने की मांग कर रही हैl उनकी पोस्ट निकाली जाए डॉक्टर की कामी हरियाणा में नहीं है लेकिन क्योंकि स्वास्थ्य बुनियादी तौर पर है नहीं यही वजह है कि हरियाणा में 70% से अधिक इलाज प्राइवेट संस्था में ही करने पड़ता हैl गुड़गांव शहर की बात जाए तो सिविल अस्पताल 4 साल से बंद पड़ा है और अधिकांश लोग निजी अस्पताल में ही इलाज करने पर मजबूर होना पड़ता है।

वार्षिक समारोह के मुख्य अतिथि डॉ उषा ढल और डॉ आर के मारिया ने पुरस्कार वितरण किया l डॉ सविता चौधरी, डॉ रीमा गोयल , डॉ संजय नरूला डॉ योगेंद्र सिंह, डॉ ज्योति यादव, डॉ विनीता यादव,डॉ अनीता शर्मा, डॉ श्री भगवान, डॉ संजीव चौधरी और अन्य डॉक्टर को सम्मनित किया गयाl आईएमए मेरठ के डॉ अनिल नौसरन को कश्मीर से कन्याकुमारी साइकिल यात्रा करने के लिए खास सम्मान दिया गयाl डॉ सारिका वर्मा को साल का सर्वश्रेशट परफॉरमर पुरूसकार दिया गया l

%d bloggers like this: