श्रमिकों के योगदान से बना हरियाणा दुनिया के निवेशकों की पहली पसंद : मनोहर लाल

Font Size
  • मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने प्रदेशवासियों को दी विश्वकर्मा जयंती की शुभकामनाएं
  • गुरूग्राम में आयोजित हुआ राजकीय श्रमिक दिवस समारोह
  • श्रमिकों व उनके परिजनों के कल्याण के लिए मुख्यमंत्री ने की अनेक घोषणाएं
    गुरूग्राम, 17 सितंबर।
    हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने कहा कि आज देश दुनिया के निवेशकों के लिए हरियाणा पहली पसंद बन चुका है। विकासात्मक बदलाव में सरकार के साथ ही आधारभूत ढांचागत विकास में हमारें श्रमिकों का योगदान अतुलनीय है जिनके सहयोग से सूंई से जहाज निर्माण तक में हम आत्मनिर्भर बन रहे हैं। मुख्यमंत्री शनिवार को गुरूग्राम के लेजर वैली मैदान में श्री विश्वकर्मा जयंती के उपलक्ष्य में आयोजित राजकीय श्रमिक दिवस समारोह में बतौर मुख्यातिथि बोल रहे थे। समारोह में केंद्रीय कॉरपोरेट राज्य मंत्री राव इंद्रजीत सिंह व हरियाणा सरकार में श्रम एवं रोजगार मंत्री अनूप धानक बतौर विशिष्ट अतिथि उपस्थित हुए। दुनिया के सबसे बड़े शिल्पकार भगवान विश्वकर्मा के चित्र के समक्ष दीप प्रज्ज्वलित कर मुख्यमंत्री ने समारोह का शुभारंभ किया। श्रमिक दिवस के अवसर पर मुख्यमंत्री ने प्रदेश के श्रमिकों व उनके परिजनों की भलाई से जुडी अनेक कल्याणकारी योजनाओं की सौगात भी दी। समारोह से पूर्व परिसर में लगी प्रदर्शनी का भी मुख्यमंत्री ने अवलोकन किया।
    मुख्यमंत्री ने राज्य स्तरीय समारोह में उपस्थित श्रमिकों को भगवान विश्वकर्मा जयंती की शुभकामनाएं देते हुए कहा कि प्रदेश की प्रगति में आपका महत्वपूर्ण योगदान है। आप व आपके परिवार की शिक्षा, स्वास्थ्य व रोजगार की जिम्मेवारी हरियाणा सरकार की है। हर स्तर पर आपके सहयोग के लिए श्रम एवं रोजगार विभाग के माध्यम से योजनाओं को लागू करते हुए आपको लाभांवित करने का कार्य किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य सेवाओं की बात करें तो केंद्र सरकार के साथ समन्वय स्थापित करते हुए ईएसआई अस्पताल के साथ ही राज्य सरकार के स्वास्थ्य केंद्रों में भी अब श्रमिकों को निशुल्क स्वास्थ्य सेवाएं प्रदान की जाएंगी। उन्होंने समारोह में श्रमिकों को सम्मान देते हुए कहा कि हरियाणा के पलवल जिला के दूधौला में देश के पहले कौशल विकास विश्वविद्यालय का नाम भी भगवान विश्वकर्मा के नाम पर रखा गया।
    सीएम मनोहर लाल ने कहा कि आज देश के कर्मयोगी प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी का भी जन्मदिन है और समस्त प्रदेश की जनता की ओर से उन्हें बधाई देता हूं साथ ही उनके सुखद स्वास्थ्य की कामना भी करता हूं ताकि वे देश को निरंतर नई उंचाईयों तक आगे ले जा सकें। उन्होंने कहा कि जिस प्रकार सत्यमेव जयते यानि सत्य की सदैव विजय कहा जाता है, उसी तर्ज पर स्वामी विवेकानंद जी ने श्रमेव जयते की बात कहते हुए श्रमिकोें का सम्मान किया है। उन्होंने बताया कि आज से पांच वर्ष पहले 17 सितंबर, 2017 में सोनीपत से राज्य स्तरीय श्रमिक दिवस मनाने की शुरूआत की गई थी और आज का दिन श्रमिकों व उनके परिजनों के कल्याण को समर्पित दिवस के रूप में मनाया जा रहा है। असंगठित क्षेत्र में काम करने वाले श्रमिकों की पहचान कर 550 अंत्योदय मेलों के माध्यम से 30 हज़ार लोगों को अब तक स्वरोजगार स्थापित करने के अवसर मुहैया कराए गए हैं।
    श्रमिकों व उनके परिजनों के कल्याण को समर्पित की घोषणाएं:
    मुख्यमंत्री ने राजकीय श्रमिक दिवस समारोह में श्रमिकों व उनके परिजनों के कल्याण के लिए घोषणाओं का पिटारा खोल दिया। जिनमें श्रमिक परिवारों का वर्ष में एक बार निशुल्क चैकअप के लिए मुख्यमंत्री परिवार स्वास्थ्य परीक्षण योजना, श्रमिकों के कैशलैस चैकअप के लिए प्रदेश में 200 श्रम योगी क्लिनिक खोलने, श्रमिकों के लिए एडवांस लाइफ स्पोर्ट-एएलएस सुविधायुक्त 100 एंबुलेंस उपलब्ध कराना, सामान्य जांच व एक्स रे के लिए 44 मोबाइल मेडिकल वैन शुरू करने, भवन एवं अन्य निर्माण श्रमिकों के लिए मुख्यमंत्री अंत्योदय परिवार उत्थान योजना के तहत स्वरोजगार स्थापित करने के लिए आवदेक के लिए भवन निर्माण एवं श्रमिक कल्याण बोर्ड को गारंटर बनाने के साथ ही प्रवासी श्रमिकों व अपंजीकृत श्रमिकोें की कार्यस्थल पर मृत्यु होने पर परिवार को दी जाने वाली ढाई लाख रूपए की वित्तिय सहायता को चार लाख रूपए करने की घोषणा की। वहीं अंत्योदय आहार योजना के तहत प्रदेश भर में 10 रूपए के भोजन के साथ 100 कैंटीन खोलने सहित कार्यस्थल पर होने वाली दुघर्टना में दिव्यांगता की स्थिति में दी जाने वाली आर्थिक सहायता को दोगुना करने की घोषणा की। मुख्यमंत्री ने दिव्यांग जन विद्यार्थियों के लिए दी जाने वाली वित्तीय सहायता को ढाई हजार रूप्ए से बढाकर 3 हजार रूपए प्रति माह करने, थैलेसीमिया की बीमारी से पीड़ित बच्चों के लिए 2500 रुपए मासिक सहायता देने की भी बात कही। उन्होंने कहा कि उद्योगों में स्थानीय युवाओं को रोजगार दिलाने की नीति बनाई और पांच साल से अधिक समय से हरियाणा में रहने वाले प्रवासी परिवारों के बच्चों को भी इसका लाभ मिलेगा।
    पुस्तिका विमोचन सहित उत्कृष्ट कार्य करने वाले श्रमिकों व उद्यमियों को किया सम्मानित:
    मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल ने राज्य स्तरीय समारोह में मुख्यमंत्री श्रम अधिनियमों के अंतर्गत बनाई गई सुनिश्चित कार्य प्रक्रियाओं (एसओपी) की विवरणिका तथा श्रमिकों की जागरूकता के लिए प्रकाशित ‘श्रमिक जानकारी पुस्तिका‘ का विमोचन किया। साथ ही 15 उद्यमियों को समारोह में हरियाणा राज्य सुरक्षा , कल्याण और स्वास्थ्य पुरस्कार से नवाजा गया। इसके अलावा, 20 श्रमिकों को श्रम पुरस्कार प्रदान किए गए। इनमें एक मुख्यमंत्री श्रम रत्न पुरस्कार ,एक हरियाणा श्रम भूषण पुरस्कार ,13 हरियाणा श्रमवीर पुरस्कार तथा 5 हरियाणा श्रम वीरांगना पुरस्कार प्रदान किए गए।
    हरियाणा की श्रम शक्ति का देश के विकास में बडा योगदान: राव इंद्रजीत
    समारोह के विशिष्ट अतिथि एवं केंद्रीय कॉरपोरेट अफेयर्स मंत्री राव इंद्रजीत सिंह ने गुरूग्राम पहुंचने पर मुख्यमंत्री का स्वागत किया। उन्होंने कार्यक्रम में पहुंचे प्रदेश भर के विभिन्न जिलों से आए श्रमिकों को भगवान विश्वकर्मा जयंती पर बधाई दी। उन्होंने कहा कि आज प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी का भी जन्मदिन है। प्रधानमंत्री श्री मोदी के नेतृत्व में देष लगातार आगे बढ रहा है। हरियाणा का इंडस्टी का बडा हिस्सा गुरूग्राम, फरीदाबाद, रेवाडी में है और कोविड काल के बाद देश व प्रदेश के कुशल नेतृत्व में जिस प्रकार जीडीपी में बढोतरी हुई है उससे यह साफ है कि हरियाणा की श्रम शक्ति देश को विकास के मामले में आगे ले जाने में सहयोगी है। उन्होंने कहा कि आने वाले 25 सालों में 2047 तक जब हम आजादी की स्वर्ण जयंती मना रहे होंगे तब देष दुनिया के अग्रणी देशों में अपना कीर्तिमान स्थापित कर चुका होगा।
    आज का यह आयोजन श्रमिकों के सम्मान का पर्व: अनूप धानक
    समारोह में हरियाणा के श्रम एवं रोजगार राज्यमंत्री अनूप धानक ने कहा कि आज का यह आयोजन हमारे श्रमिकों व उनके परिवार के सम्मान का पर्व है। उन्होंने कहा कि हरियाणा सरकार द्वारा भगवान विश्वकर्मा की जयंती के अवसर पर राजकीय श्रमिक दिवस समारोह का आयोजन सभी के लिए गर्व का विषय है। उन्होंने बताया कि वर्ष 2017 में सोनीपत से मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने श्रमिकों का सम्मान बढ़ाने की परंपरा शुरू की है जो कि निरंतर जारी है। उन्होंने कहा कि श्रमिकों के कल्याण के लिए सरकार ने उच्च शिक्षा, स्वरोजगार व वित्तीय सहायता देने के लिए अनेक योजनाएं चलाई हैं जिनसे जरूरतमंद श्रमिक लाभांवित हो रहे हैं। उन्होंने बताया कि श्रमिकों के बच्चों का पहली से आठवीं तक निःशुल्क पुस्तकें व वर्दी उपलब्ध कराई जा रही है।
    यह रहे मौजूद:

इस अवसर पर सोहना से विधायक संजय सिंह, गुरूग्राम नगर निगम मेयर मधु आजाद, श्रम एवं रोजगार विभाग हरियाणा के एसीएस डा राजासेखर वूंदरू, श्रम विभाग के आयुक्त मनीराम शर्मा, मुख्यमंत्री के सुरक्षा सलाहकार अनिल राव, मीडिया सलाहकार अमित आर्य, गुरूग्राम मंडल आयुक्त रमेश चंद्र बिढान, पुलिस आयुक्त कला रामचंद्रन, डीसी निशांत कुमार यादव, नगर निगम आयुक्त मुकेश आहुजा सहित अन्य गणमान्य व्यक्ति मौजूद रहे।

Leave a Reply

You cannot copy content of this page

%d bloggers like this: