रेलवे भर्ती परीक्षा परिणाम को लेकर हुए हिंसक प्रदर्शन के मामले में खान सर सहित 6 शिक्षकों व 16 छात्रों पर शिकंजा कसा, एफ आई आर दर्ज

Font Size

RRB NTPC

RRB NTPC

Patna : रेलवे भर्ती परीक्षा परिणाम (RRB NTPC) को लेकर हुए हिंसक प्रदर्शन के मामले में पटना ही नहीं बिहार से बाहर अन्य राज्यों के विद्यार्थियों में भी चर्चित कोचिंग चलाने वाले खान सर पर पुलिस ने शिकंजा कस दिया है। राष्ट्रीय स्तर पर रेल मंत्री की जबरदस्त किरकिरी कराने वाली इस घटना को प्रमुखता से लेते हुए पटना के पत्रकार नगर थाने में केस दर्ज किया गया है। खान सर के अलावे अन्य 6 टीचरों और 16 छात्रों पर नामजद एफ आई आर दर्ज कराई गई है।

खान सर समेत सभी नामजद टीचरों और अन्य कोचिंग संचालकों पर आरोप है कि इन लोगों ने ही आर आर बी एनटीपीसी भर्ती के परीक्षार्थियों एवं अन्य विद्यार्थियों को रेलवे स्टेशन और रेलवे ट्रैक पर प्रदर्शन के लिए उकसाया था।

थाने में दर्ज एफ आई आर में आरोप लगाया गया है कि मनमाफिक रिजल्ट नहीं आने से उक्त कोचिंग के खान सर सहित सभी शिक्षकों ने विद्यार्थियों को आंदोलन करने के लिए षड्यंत्र रचा। इसमें सोशल मीडिया पर वायरल खान सर के वीडियो ने भी आग में घी डालने का काम किया। वीडियो मैं जिस तरह से रेलवे भर्ती परीक्षा परिणाम के बारे में सवाल खड़े किए गए उसे देख कर छात्र भड़क गए। इस वजह से ही पटना सहित बिहार के अन्य जिलों में भी कानून-व्यवस्था की स्थिति खराब हो गई।

उल्लेखनीय है कि रेलवे की RRB-NTPC भर्ती के लिए हुई परीक्षा के रिजल्ट पर विद्यार्थियों ने यह कहती हुई सवाल खड़ा किया कि रेलवे भर्ती बोर्ड ने अपने पहले जारी नोटिफिकेशन पर अमल नहीं कर परीक्षार्थियों के साथ अन्याय किया है। विद्यार्थियों का कहना है कि रेलवे ने नोटिफाई किया था कि परीक्षा परिणाम में रिक्त पदों से 20 गुना अधिक परीक्षार्थियों का चयन किया जाएगा लेकिन यह केवल 10 गुना है।

दूसरा सवाल छात्रों के द्वारा यह भी उठाया गया कि कई विद्यार्थियों के नाम अलग-अलग टर्म में हुए एग्जाम के परिणाम में दोहराए गए हैं। विद्यार्थियों ने यह भी सवाल खड़ा किया है कि 10वीं एवं 12वीं स्तर के पदों की परीक्षा में स्नातक और स्नातकोत्तर स्तर के विद्यार्थियों को भी शामिल होने की अनुमति दी गई जिससे कम योग्य विद्यार्थियों का अवसर छिन जाएगा। टीना मुद्दों को लेकर हजारों छात्रों ने 24 जनवरी को पटना में राजेंद्र टर्मिनल पर हंगामा शुरू किया और ट्रेनें रोकी ।

परीक्षार्थी उग्र थे और रेलवे संपत्ति को नुकसान पहुंचा रहे थे जबकि उन्होंने पुलिस पर भी काफी पथराव किया था। पुलिस ने भी कार्रवाई की थी। घटनास्थल पर पत्रकार नगर थाना की पुलिस ने 4 छात्रों को गिरफ्तार किया था। इसमें गिरिडीह के किशन कुमार, लखीसराय के रोहित कुमार, राजन कुमार और बिक्रम कुमार शामिल हैं।

इस मामले को लेकर केंद्रीय रेलवे मंत्री अश्विनी वैष्णव ने बुधवार को प्रेस वार्ता कर सारी स्थिति स्पष्ट की है।

उन्होंने एक समिति का गठन कर पूरे मामले की जांच करने और परीक्षार्थियों की शिकायतों एवं आशंकाओं पर विचार करने का ऐलान किया है। उन्होंने सभी परीक्षार्थियों से अपनी शिकायतें और सुझाव भी रेलवे भर्ती बोर्ड को निर्धारित समय के तहत भेजने को कहा है। रेल मंत्री ने यह भी स्पष्ट किया है कि 3 सप्ताह के अंदर इस मामले पर उच्च स्तरीय समिति अपने सुझाव रेलवे मंत्री के सामने प्रस्तुत करेगी। उसके अनुरूप इस पर निर्णय लिया जाएगा। रेलवे मंत्री ने परीक्षार्थियों को यह कहते हुए आश्वस्त किया है कि किसी के साथ अन्याय नहीं किया जाएगा।

दूसरी तरफ बिहार सहित दूसरे राज्यों में भी परीक्षार्थियों द्वारा हिंसक रूप लेने और आंदोलन के दौरान रेलवे संपत्ति को क्षतिग्रस्त करने के मामले में स्थानीय पुलिस ने कार्रवाई करनी शुरू कर दी है।

पटना के पत्रकार नगर थाने में दर्ज एफआईआर में दावा किया गया है कि पकड़े गए छात्रों ने ही पुलिस के समक्ष सभी के नाम लिए। पुलिस द्वारा गिरफ्तार आंदोलनकारी परीक्षार्थियों के बयान के आधार पर ही खान सर, एस के झा सर, नवीन सर, अमरनाथ सर, गगन प्रताप सर, गोपाल वर्मा सर को नामजद किया गया है। पकड़े गए छात्रों ने ही बहादुरपुर के शिव शक्ति नगर के रहने वाले नरेश, नागेश, विकास, खेसारी, मृत्युंजय, बालेश्वर, पंकज, विशाल, सूरज, भजनू, विकास उर्फ छोटू, मुकेश और पटेल छात्रावास में रहने वाले 3-4 अपने अन्य दोस्तों के बारे में बताया।

बताया जाता है कि इस आंदोलन के मामले में पत्रकारनगर थाने की पुलिस ने इन कोचिंग संचालकों के अलावे 300 से 400 के करीब अन्य अज्ञात छात्रों को भी आरोपी बनाया है। इसमें बाजार समिति में कोचिंग चलाने वाले अन्य अज्ञात संचालकों पर भी आरोप लगा है। थानेदार मनोरंजन भारती के बयान पर IPC की धारा 147/148/149/151/152/186/187/188/323/332/353/504/506 और 120B के तहत एफ आई आर नंबर 42/2022 दर्ज किया गया है।

RRB NTPC RRB NTPC RRB NTPC RRB NTPC RRB NTPC RRB NTPC RRB NTPC RRB NTPC RRB NTPC RRB NTPC RRB NTPC RRB NTPC RRB NTPC RRB NTPC 

You cannot copy content of this page

%d bloggers like this: