5 राज्यों के विधानसभा चुनावों का ऐलान : 10 फ़रवरी से शुरू , 7 चरणों में होंगे चुनाव , 10 मार्च को मतगणना

13 / 100
Font Size

नई दिल्ली : मुख्य चुनाव आयुक्त सुशील चंद्रा नी आज देश के पांच राज्यों में विधानसभा चुनाव की घोषणा की. सभी राज्यों में कुल मिलकर 7  चरणों में चुनाव कराये जायेंगे .  उत्तर प्रदेश(403 सीटें) , उत्तराखंड(70 सीटें), गोवा(40 सीटें), पंजाब (117 सीटें) और मणिपुर (60 सीटें) के लिए चुनाव कराये जायेंगे . चुनाव की तारीखों के एलान के साथ ही सभी चुनावी राज्यों में आचार संहिता भी लागू हो गई.  10 मार्च को सभी पांचों प्रदेश में विधानसभा चुनाव की मतगणना होगी .

मुख्य चुनाव आयुक्त सुशील चंद्रा की प्रेस वार्ता देखिये : 

 

उत्तर प्रदेश में 403 सीटों के लिए 7 चरणों में चुनाव होंगे. उत्तराखंड की सभी 70 विधानसभा सीटों के लिए 1 चरण में चुनाव होंगे. पंजाब की 117 विधानसभा सीटों पर 1 चरण में मतदान होगा. गोवा में 40 विधानसभा सीटों के लिए भी 1 चरण में ही वोटिंग होगी. मणिपुर में 60 सीटों पर 2 चरण में चुनाव संपन्न होंगे.

पंजाब, उत्तराखंड और गोवा में एक चरण में 14 फरवरी को होगा मतदान ।मणिपुर में दो चरणों मे होगा मतदान । पहले चरण का मतदान 27 फरवरी को होगा, जबकि दूसरा चरण 3 मार्च को होगा ।

 यूपी में 7 चरणों में होगा मतदान

यूपी में पहले चरण का मतदान 10 फरवरी को होगा।दूसरे चरण का मतदान 14 फरवरी को होगा।तीसरे चरण का मतदान 20 फरवरी को होगा।चौथे चरण का मतदान 23 फवरी को होगा।पांचवें चरण का मतदान 27 फरवरी को होगा।छठे चरण का मतदान 3 मार्च को होगा।सातवें चरण का मतदान 7 मार्च को होगा।

 

सर्विस मतदाता को​ मिलाकर 18.34 करोड़ मतदाता इस चुनाव में हिस्सा लेंगे जिनमें से 8.55 करोड़ महिला मतदाता हैं । प्रत्याशी ऑनलाइन नामांकन दाखिल कर सकेंगे ।  चुनाव को लेकर सभी एजेंसियों को अलर्ट कर दिया गया है। मतदान केंद्रों की संख्या 2,15,368 है.  2017 के विधानसभा चुनावों से मतदान केंद्रों की संख्या 16% बढ़ाई गई है ।

80 वर्ष से अधिक उम्र के वरिष्ठ नागरिक, दिव्यांग व्यक्ति और कोविड-19 पॉजिटिव व्यक्ति पोस्टल बैलेट से मतदान कर सकते हैं ।

सभी चुनाव अधिकारियों और कर्मचारियों को फ्रंटलाइन वर्कर माना और सभी पात्र अधिकारियों को प्रीकोशनरी डोज़ लगाई जाएगी ।

15 जनवरी 2022 तक किसी भी रोड शो, पदयात्रा, साइकिल रैली, बाइक रैली और जुलूस निकालने की अनुमति नहीं होगी। चुनाव आयोग स्थिति की समीक्षा करेगा और बाद में नए निर्देश जारी किए जाएंगे ।  सिर्फ पांच लोग घर-घर जाकर चुनाव प्रचार कर सकेंगे ।

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You cannot copy content of this page
%d bloggers like this: