हरियाणा में राष्ट्रीय व राज्य के राजमार्गों पर भारी वाहनों के लिए एक लेन ड्राइविंग की व्यवस्था होगी : अनिल विज

Font Size

राज्य के सभी पुलिस थानों व चौकियों में आगामी 1 अप्रैल, 2022 तक सीसीटीवी कैमरे लगा दिए जाएंगें

चण्डीगढ, 8 दिसंबर – हरियाणा के गृह मंत्री श्री अनिल विज ने कहा कि राज्य से गुजरने वाले सभी राष्ट्रीय मार्गों व राज्य के राजमार्गों पर भारी वाहनों के लिए एक लेन ड्राइविंग को दुरूस्त किया जाएगा ताकि छोटे व मध्यम वाहनों को किसी भी प्रकार की दिक्कत न हो और धंुध में होने वाली सड़क दुर्घटनाओं से लोगों को बचाया जा सकें। इसके अलावा, उन्होंने कहा कि राज्य के सभी पुलिस थानों व पुलिस चौकियों में आगामी 1 अप्रैल, 2022 तक सीसीटीवी कैमरे लगा दिए जाएंगें।

श्री विज आज यहां पुलिस विभाग के अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक की अध्यक्षता कर रहे थे।

उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिए कि हरियाणा में से गुजरने वाले राष्ट्रीय व राज्य राजमार्गो पर भारी वाहनों जैसे कि ट्रक इत्यादि की ड्राइविंग को एक लेन ड्राइविंग हेतू सुनिश्चित किया जाए यदि कोई भारी वाहन चालक अपने वाहन को निर्धारित की गई लेन में नहीं चलाता है तो उसका चालान काटा जाए। इसके अलावा, उन्होंने कहा कि राजमार्गों पर कई बार भारी वाहन चालक अपने वाहनों को नो-पार्किंग एरिया में खड़ा कर देते हैं और धंुध होने की वजह से पीछे आ रहे वाहन टकरा जाते हैं जिससे जान व माल की हानि होती है, इसलिए ट्रैफिक पुलिस अधिकारियों को यह सुनिश्चित करना होगा कि कोई भी भारी वाहन नो-पार्किंग एरिया या जोन में न खडा हो।

राजमार्गों पर ट्रैफिक से संबंधित विभिन्न चिन्हों के बोर्ड लगाए जाएं व पैट्रोलिंग हो सुनिश्चित- विज

गृह मंत्री ने ट्रैफिक पुलिस की आईजी श्रीमती राजश्री सिंह को निर्देश देते हुए कहा कि भारी वाहन निर्धारित किए गए स्थानों में ही खडें हों तथा राजमार्गों पर ट्रैफिक से संबंधित विभिन्न चिन्हों के बोर्ड भी लगाए जाएं ताकि लोगों को किसी भी प्रकार की दिक्कत न हों। श्री विज ने उन्हें निर्देश देते हुए कहा कि देश के सबसे व्यवस्तम हाइवे में से एक अंबाला से दिल्ली जाने वाले राष्ट्रीय राजमार्ग पर भारी वाहन निर्धारित लेन में नहीं चलते है इसलिए संबंधित जिलों के अधिकारियों जैसे पुलिस अधीक्षक इत्यादि को निर्देश जारी करें कि वे अपने-अपने संबंधित जिलोें में लेन ड्राइविंग को सुनिश्चित किया जाए। इसके अलावा, श्री विज ने पुलिस अधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा कि कुंडली-मानेसर-पलवल (केएमपी) पर पैट्रोलिंग को भी सुनिश्चित किया जाए तथा संबंधित कनसैशनर (ठेकेदार) के पैट्रोलिंग वाहनों का भी उपयुक्त प्रयोग होना चाहिए।
श्री विज ने कहा कि हमें लोगों को सेफ ड्राइविंग के लिए तैयार करना होगा ताकि लोग सुरक्षित वाहन चलाएं और सुरक्षित रहेें। उन्होंने कहा कि लोगों को ट्रैफिक से संबंधित शिक्षित करना होगा, इसी कड़ी में पुलिस अधिकारियों ने मंत्री को अवगत कराया कि पिछले पांच साल से प्रदेश के विभिन्न स्कूलों में ड्राइविंग सेंस से संबंधित लाखों स्कूली बच्चों को ड्राइविंग की शिक्षा दी जा रही है ताकि आने वाली पीढ़ी को ड्राइविंग सेंस से संबंधित कोई परेशानी न हों।

राज्य के सभी पुलिस थानों व चौकियों में आगामी 1 अप्रैल, 2022 तक सीसीटीवी कैमरे लगा दिए जाएंगें-अनिल विज

इसी प्रकार, श्री विज ने अधिकारियोें को निर्देश देते हुए कहा कि आगामी 1 अप्रैल, 2022 तक राज्य के सभी पुलिस थानों व पुलिस चौकियों में सीसीटीवी कैमरे लगा दिए जाएं, इस पर, पुलिस अधिकारियों ने मंत्री को अवगत कराया कि इस कवायद को पुलिस हाऊसिंग कारपोरेशन के मार्फत करवाया जाएगा और इसके लिए एस्टीमेट तैयार कर दिया गया है और टेंडर की प्रक्रिया को शुरू कर दिया जाएगा तथा यह टेंडर ई-टेंडर होगा। बैठक में मंत्री को अवगत कराया गया कि ऐसे पुलिस थानों व पुलिस चौकियों में लगभग सात हजार कैमरों को लगाया जाएगा, जिसके संबंध में डैशबोर्ड भी होगा। पुलिस थानों व पुलिस चौकियों में लगने वाले कैमरे हाई डेफिनेशन, नाइट विजन तथा आइडियो रिकोर्डिंग होने के साथ-साथ 360 डिग्री के भी होंगें। इसके अलावा, इन कैमरों में 512 जीबी की अतिरिक्त स्टोरेज की क्षमता भी होगी तथा इन कैमरों की रिकार्डिंग एक सर्वर पर जाएगी। बैठक में अधिकारियांे ने मंत्री को अवगत कराया कि इस प्रक्रिया के होने के बाद पुलिसिंग में पूरा बदलाव देखने को मिलेगा।

अपराध पर अंकुश लगाने के लिए शहरों के मुख्य स्थानों पर लगेंगें सीसीटीवी कैमरे- विज

बैठक में अधिकारियों ने मंत्री को अवगत कराया कि हाइब्रिड स्मार्ट सिटी प्रौजैक्ट के तहत भी शहरों में सीसीटीवी कैमरों को लगाने का कार्य किया जाएगा, इस पर मंत्री ने कहा कि शहरों में लगने वाले कैमरे के कार्यों के तहत पहले प्राथमिक तौर पर विशेष स्थानों को चिन्हित किया जाए जैसे कि शहर का एंट्री व एक्जीट प्वााईंट, रेलवे स्टेशन, बस अडडा, मार्किट इत्यादि में इन कैमरों को स्थापित करने के लिए एक योजना तैयार की जाए ताकि अपराध को कम किया जा सकें और अपराधिक घटनाओं अंकुश लग सकें। बैठक में अधिकारियों ने मंत्री को बताया कि अंबाला से कुंडली बार्डर तक 20 विशेष बिंदूओं को चिन्हित कर सीसीटीवी कैमरे लगाने का कार्य किया जा रहा है जिसके तहत सोनीपत मंे 4 स्थान, पानीपत में 3, करनाल में 6, कुरूक्षेत्र में 4 और अंबाला में 3 स्थानों पर यह कैमरे स्थापित किए जा रहे हैं। इसके अलावा, मंत्री को अवगत कराया गया कि विभिन्न निजी लोगांे द्वारा लगाए गए सीसीटीवी कैमरों की मैपिंग भी की जा रही है ताकि अपराध पर अंकुश लगाया जा सकें।
बैठक में गृह विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव श्री राजीव अरोड़ा, पुलिस महानिदेशक श्री पी. के. अग्रवाल, अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक (कानून व्यवस्था) श्री नवदीप सिंह विर्क, पुलिस महानिरीक्षक (ट्रैफिक) श्रीमती राजश्री सिंह और पुलिस महानिरीक्षक श्री अमिताभ ढिल्लों, हाट्रोन के एमडी श्री मंदीप सिंह बराड़ और गृह विभाग के सचिव श्री बलकार सिंह सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।

You cannot copy content of this page

%d bloggers like this: