केन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने कश्मीर के तीन राजनितिक परिवारों को ललकारा

4 / 100
Font Size

जम्मू : केन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने अपने तीन दिवसीय कश्मीर दौरे के दौरान रविवार को मकवाल में बॉर्डर आउट पोस्ट का दौरा किया.  उन्होंने  जम्मू के मकवाल में बॉर्डर आउट पोस्ट पर जाकर हमारे बीएसएफ के जवानों से भेंट कर उनके साथ कुछ समय बिताया. इस अवसर पर उन्होंने कहा कि  भारत की रक्षा के प्रति हमारे सुरक्षा प्रहरियों का समर्पण सचमुच अद्भुत है। समस्त देशवासियों की ओर से अपने सुरक्षाबलों की बहादुरी को नमन कर कृतज्ञता व्यक्त करता हूँ। केंद्र सरकार देश की सुरक्षा करने वाले हमारे सुरक्षाबलों के कल्याण व उनके परिजनों की देखरेख के प्रति पूरी तरह समर्पित है।  मैं सभी से कहना चाहता हूँ कि आप चिंतामुक्त होकर देश की रक्षा करें आपके परिवारों की चिंता मोदी सरकार करेगी।

इसके बाद गृह मंत्री श्री शाह गाँव मकवाल पहुंचे जो बॉर्डर का अंतिम गाँव है.  उन्होंने जम्मू में भारत की सीमा के अंतिम गाँव मकवाल में जाकर ग्रामवासियों का हाल जाना। उनका कहना था कि देश के संसाधनों पर जितना हक राजधानी में रहने वाले एक नागरिक का है उतना ही सरहद के गाँव में रहने वाले नागरिक का भी है। मोदीजी के नेतृत्व में हम बॉर्डर तक हर सुविधा व विकास पहुँचाने के लिए कटिबद्ध हैं।

गृह मंत्गुरी ने जम्मू स्थित गुरुद्वारा डिगियाना आश्रम में मत्था टेका . उन्होंने जम्मू के गुरुद्वारा डिगियाना आश्रम में मत्था टेककर सभी की खुशहाली व समृद्धि के लिए अरदास की। उन्होंने कहा कि गुरुओं की शिक्षा व आशीर्वाद हमें निरंतर जम्मू-कश्मीर व समस्त देश की प्रगति के लिए शक्ति प्रदान करेगा।

 

गृह मंत्री ने रविवार को जम्मू में एक जनसभा को संबोधित किया और विभिन्न विकास योजनाओं का उद्घाटन व शिलान्यास भी किया। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि दशकों तक विकास से वंचित रहे जम्मू क्षेत्र और यहाँ के लोगों को अब उनका अधिकार मिल रहा है। उन्होंने कहा कि हम जम्मू के समग्र विकास हेतु निरंतर कटिबद्ध हैं। उन्होंने बताया कि  ₹210 करोड़ की लागत से बने IIT जम्मू के इस नए कैंपस में छात्रों की उच्च शिक्षा के साथ-साथ अच्छे छात्रावास, gymnasium, इंडोर गेम्स जैसी सभी सुविधाएँ उपलब्ध हैं। आज जम्मू-कश्मीर शिक्षा का एक प्रमुख केंद्र बनने की ओर अग्रसर है।

 

जम्मू में लोगों को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि  ये 3 परिवार दशकों तक J&K के लोगों का शोषण करते रहे, ये मजाक उड़ाते थे कि यहाँ कौन आएगा। मोदी जी के नेतृत्व में जम्मू कश्मीर में ₹12 हजार करोड़ का निवेश आया है व 2022 तक ₹51 हजार करोड़ का निवेश आने वाला है। ये मोदी जी का शासन है…अब न तो किसी का शोषण होगा और न तुष्टिकरण होगा।

उम्होने कहा कि मोदी जी के नेतृत्व में J&K में अनुसूचित जाति व जनजाति हेतु सीटें आरक्षित करने के लिए आयोग बन गया है, अन्य पिछड़ा वर्ग की जातियां तय होने वाली है।  पहाड़ी जनजाति समुदायों हेतु 4% आरक्षण दिया गया है व अब इनका नुमाइंदा भी विधानसभा में गौरव के साथ बैठेगा व मंत्री बनकर सबके बीच आएगा।

गृह मंत्जरी ने कहा कि जल्द ही जम्मू व श्रीनगर में मेट्रो की शुरुआत होने वाली है और ₹700 करोड़ से जम्मू एयरपोर्ट का भी विकास होने वाला है।नई हेलिकॉप्टर पॉलिसी के तहत J&K के हर जिले में हेलीपैड बनाकर हर जिले को आपस में जोड़ने का भी काम हमने शुरू किया है।

उनका कहना था कि जम्मू के साथ अन्याय का समय समाप्त हो चुका है। अब कोई आपके साथ अन्याय नहीं कर सकता। अब जम्मू और कश्मीर दोनों का विकास होगा।@narendramodi   जी ने अन्यायी धारा 370 को खत्म कर जम्मू-कश्मीर की जनता को उनके अधिकार दिए हैं। अब संविधान के सभी अधिकार यहां के सभी लोगों को मिल रहे हैं।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You cannot copy content of this page