गुरुग्राम व फरीदाबाद में नए एचएसवीपी सेक्टरों में इंफ्रास्ट्रक्चर उपलब्ध करवाने का रास्ता हुआ साफ

41 / 100
Font Size

– मुख्यमंत्री के मुख्य प्रधान सचिव की अध्यक्षता में लिए गए महत्वपूर्ण निर्णय

– मंगलवार को गुरुग्राम के लोक निर्माण विश्राम गृह में आयोजित हुई उच्च स्तरीय बैठक

गुरुग्राम, 27 जुलाई । गुरुग्राम और फरीदाबाद शहरों में हरियाणा शहरी विकास प्राधिकरण (एचएसवीपी) के नए विकसित किए जा रहे सेक्टरों में सीवरेज और ड्रेनेज के जो कार्य शुरू ही नहीं हुए, वे सभी कार्य गुरुग्राम में गुरुग्राम महानगर विकास प्राधिकरण (जीएमडीए) तथा फरीदाबाद में फरीदाबाद महानगर विकास प्राधिकरण (एफएमडीए) द्वारा करवाए जाएंगे। इन सेक्टरों में सीवरेज और ड्रेनेज के जो कार्य शुरू करवाए जा चुके हैं परंतु किसी ना किसी वजह से अधूरे रह गए हैं, उन कार्यों को हरियाणा शहरी विकास प्राधिकरण पूरा करवा कर गुरुग्राम में जीएमडीए को तथा फरीदाबाद में एफएमडीए को ट्रांसफर करेगा।

यह निर्णय आज मुख्यमंत्री के मुख्य प्रधान सचिव डीएस ढेसी की अध्यक्षता में आयोजित बैठक में लिया गया। यह बैठक गुरुग्राम के लोक निर्माण विश्राम गृह में आयोजित की गई थी, जिसमें जीएमडीए तथा एफएफडीए के अधिकारियों ने भाग लिया और शहरी विकास विभाग के प्रधान सचिव एके सिंह, टाउन एंड कंट्री प्लानिंग विभाग के निदेशक केएम पांडुरंग तथा एचएसवीपी के मुख्य प्रशासक अजीत बाला जोशी वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से बैठक से जुड़े।

बैठक में गुरुग्राम और फरीदाबाद ने एचएसवीएपी के नए विकसित हो रहे सेक्टरों में मूलभूत इंफ्रास्ट्रक्चर उपलब्ध करवाने में आ रही रुकावटो के बारे में विस्तार से चर्चा की गई। ज्यादातर अवरोध मुख्य रूप से लिटिगेशन या जमीन अधिग्रहण नहीं होने या अतिक्रमण की वजह से हैं। इन बोटलनेक्स अर्थात अवरोधों को कैसे दूर किया जाए, इस पर मंथन हुआ। मंथन के बाद यह निर्णय लिया गया कि गुरुग्राम में एचएसवीपी के नए विकसित हो रहे सेक्टरों में मास्टर रोड़ और मास्टर वाटर सप्लाई का कार्य जीएमडीए करवाएगा। इन सेक्टरों में सीवरेज और ड्रेनेज कार्य के लिए जो एग्रीमेंट और टेंडर हो चुके हैं, उन कार्यों को एचएसवीपी ही पूरा करवा कर देगा। निर्माण कार्यों में गैप भरे जाने के बाद सीवरेज और ड्रेनेज के कार्य भी जीएमडीए अथवा एफएमडीए को हस्तांतरित कर दिए जाएंगे।

 

उदाहरण के तौर पर गुरुग्राम में सेक्टर 58 से 115 तक नए सेक्टर विकसित किए जा रहे हैं। एचएसवीपी और जीएमडीए के बीच हुए समझौते के अनुसार सभी नए सेक्टरों में मास्टर रोड़ और मास्टर वाटर सप्लाई की लाइन बिछाने का कार्य जीएमडीए द्वारा किया जाएगा। ये कार्य एचएसवीपी द्वारा जीएमडीए को ट्रांसफर किए जाएंगे। जहां तक इन नए सेक्टरों में सीवरेज लाइन बिछाने और ड्रेनेज कार्य का संबंध है, वह कार्य एचएसवीपी करवा रहा है। ज्यादातर सेक्टरों में यह काम एचएसवीएपी शुरू करवा चुका है लेकिन पूरा नहीं हुआ है, अर्थात अधूरा पड़ा हुआ है। अब चाहे एचएसवीपी उसी एजेंसी को बुलाकर उस कार्य को पूर्ण करवाएं या नया टेंडर करके गैप को भरें, यह जिम्मेदारी एचएसवीपी की ही रहेगी।

आज की बैठक में यह भी निर्णय लिया गया कि गुरुग्राम के सेक्टर 107 में नया एसटीपी बनाया जाना है जिसके लिए जमीन का प्रबंध करके जीएमडीए प्रपोजल तैयार करेगा।

बैठक में श्री ढेसी के अलावा जीएमडीए और एफएमडीए के सीईओ सुधीर राजपाल, एचएसवीपी गुरुग्राम के प्रशासक जितेंद्र यादव, उपायुक्त डॉ यश गर्ग के अलावा जीएमडीए तथा एफएमडीए के इंजीनियरिंग विंग के अधिकारीगण उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You cannot copy content of this page