आकाश मिसाइल (आकाश-एनजी) का सफलतापूर्वक परीक्षण

Font Size

नई दिल्ली : डी आर डी ओ ने आज नई पीढ़ी की आकाश मिसाइल (आकाश-एनजी) का 21 जुलाई को ओडिशा के तट से एकीकृत परीक्षण रेंज (आईटीआर) से सफलतापूर्वक परीक्षण किया. यह स्वदेशी रूप से विकसित कम वजन की मिसाइल है.  जारी की गई सूचना के अनुसार सतह से हवा में मार करने वाली यह मिसाइल, नई पीढ़ी की आकाश मिसाइल (आकाश-एनजी) है जिसका सफलतापूर्वक उड़ान परीक्षण किया गया.

बताया गया है कि एक बार तैनात होने के बाद, आकाश-एनजी हथियार प्रणाली भारतीय वायु सेना की वायु रक्षा क्षमता में जबरदस्त वृद्धि करने वाली साबित होगी .

मिसाइल प्रणाली को रक्षा अनुसंधान एवं विकास प्रयोगशाला (DRDL), हैदराबाद द्वारा अन्य DRDO प्रयोगशालाओं के सहयोग से विकसित किया गया है। इस प्रक्षेपण को भारतीय वायु सेना के प्रतिनिधियों ने देखा। उड़ान डेटा को पकड़ने के लिए, आईटीआर ने इलेक्ट्रो ऑप्टिकल ट्रैकिंग सिस्टम, रडार और टेलीमेट्री जैसे कई रेंज स्टेशनों को तैनात किया। इन प्रणालियों द्वारा कैप्चर किए गए संपूर्ण उड़ान डेटा से संपूर्ण हथियार प्रणाली के निर्दोष प्रदर्शन की पुष्टि की गई है। परीक्षण के दौरान, मिसाइल ने तेज और फुर्तीले हवाई खतरों को बेअसर करने के लिए आवश्यक उच्च गतिशीलता का प्रदर्शन किया।

You cannot copy content of this page

%d bloggers like this: