पुलिस हिरासत में हुई कथित मारपीट से मौत को लेकर गुस्साए लोगों ने शव को लेकर किया पुन्हाना- होडल रोड जाम

13 / 100
Font Size

प्रदर्शनकारियों ने पुलिस कर्मचारियों के साथ की मारपीट

प्रदर्शनकारियों ने जमकर उत्पात मचाया, पुलिस जिप्सी को किया आग के हवाले

 

 

 

 

जुरहरा, रेखचन्द्र भारद्वाज: प्रदेश की सीमा से लगते हरियाणा के कस्बा पुन्हाना के गांव जमालगढ के एक युवक की फरीदाबाद पुलिस हिरासत में कथित रूप से की गई मारपीट के कारण हुई मौत के बाद गुस्साये ग्रामीणों ने शनिवार को पुलिस-प्रशासन के खिलाफ विरोध प्रदर्शन करते हुए पुन्हाना-होडल मार्ग पर सड़क पर शव रखकर जाम लगा दिया। मामले ने तूल इतना पकडा कि प्रदर्शनकारियों ने पुन्हाना सिटी चौकी की पुलिस जीप को भी आग के हवाले कर पुलिस जवानों पर जमकर पथराव किया। सूचना पाकर नूंह पुलिस कप्तान नरेन्द्र बिजराणिया मौके पर दल-बल के साथ पंहुचे, जहां उन्होंने पुन्हाना के डीएसपी व पुलिस अधिकारियों से हालात के बारे में जानकारी हासिल की। इसके बाद पुलिस ने कानून व्यवस्था को बनाने के लिये फ्लैग मार्च निकाला। वहीं कुछ उपद्रवियों द्वारा शहर में लाठी-डंडे लेकर प्रवेश कर एक दुकान के बाहर खडी बाईक में भी तोड़फोड़ किए जाने की समाचार मिले हैं।

मिली जानकारी के अनुसार गांव जमालगढ़ निवासी जुनैद पुत्र रूजदार सहित अन्य चार युवकों को फरीदाबाद पुलिस द्वारा किसी मामले में पूछताछ के लिए हिरासत में लिया गया था। जिसके एक दिन बाद ही पूछताछ के बाद पुलिस द्वारा उन्हें परिजनों को सौंप दिया गया था। जुनैद के परिजनों ने बताया कि पुलिस द्वारा जुनैद की पूछताछ के दौरान निर्मम तरीके से पिटाई की गई थी, जिसके बाद उसकी हालत गंभीर बनी हुई थी। उन्होंने कई अस्पतालों में उसका इलाज कराया, परंतु गंभीर हालत के चलते शुक्रवार 11 जून को उसकी मौत हो गई। परिजनों ने फरीदाबाद पुलिस पर आरोप लगाते हुए कहा कि फरीदाबाद पुलिस के अधिकारियों ने जुनैद को छोडऩे के एवज में मोटी रकम भी उनसे वसूली है।

जुनैद की मौत के समाचार के बाद गांव जमालगढ में बडी संख्या में लोग एकत्रित हुए- पुन्हाना क्षेत्र के गणमान्य लोगों ने मृतक के परिजनों को सांत्वना देते हुये फरीदाबाद पुलिस के खिलाफ कार्रवाई की मांग की। इसके बाद सैकडों ग्रामीणों ने शव को लेकर पुन्हाना-होडल मार्ग पर जाम लगा दिया। जाम की सूचना पाकर सिटी चौकी पुलिस मौके पर पंहुची तो प्रदर्शन कर रहे लोगों की पुलिस से झडप हो गई। जिसके बाद प्रदर्शनकारियों ने पुलिस की गाडी पर जमकर डंडे बरसाये व पुलिस कर्मचारियों के साथ हाथापाई किए जाने के लिए समाचार मिले हैं।

प्रदर्शनकारियों को गुस्सा इतना बढा की उन्होंनें मौके पर खडी सिटी चौकी पुलिस की जिप्सी को आग लगा दी। लगभग आधे घंटे तक पुलिस की जिप्सी कर जलती रही। तब जाकर पुन्हाना थाना, बिछोर थाना, पिनगवां थाना, फिरोजपुर थाना, अपराध जांच शाखा पुन्हाना के करीब पचास जवान मौके पर पंहुचे। पुलिस शहर में फ्लैग मार्च निकालकर हालात पर काबू पाने की कोशिश करती रही। वहीं पुन्हाना के उप पुलिस अधिक्षक शमशेर सिंह ने कहा कि बवाल मचाने वालों के खिलाफ कडी कार्रवाई अमल में लाई जायेगी। इसके अलावा परिजनों की शिकायत पर भी जांच के बाद कार्रवाई की जायेगी। उन्होंनें लोगों से अपील करते हुये कहा कि प्रशासन पर यकीन रखते हुये शांति व्यवस्था को बनाये रखे।

बवाल के बाद शव को पोस्टमार्टम के लिये भेजा- जुनैद की मौत के बाद हुये बवाल के बाद लगभग दो घंटे चले घटनाक्रम के बाद जाम लगा रहे लोग मौके की नजाकत को भांपते हुये युवक के शव को मांडीखेडा स्थित अलआफिया अस्पताल में पोस्टमार्टम के लिये ले गये।

घटना के बाद मौके पर भारी पुलिस बल तैनात- जुनैद की मौत के बाद हुये बवाल के बाद नूंह पुलिस कप्तान नरेन्द्र बिजराणिया ने स्वंय घटना स्थल का दौरा किया। पुलिस कप्तान द्वारा मौके पर नूंह से आरएएफ के करीब सौ से अधिक जवानों ने मौके पर तैनात कर दिये।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You cannot copy content of this page