वर्ष 2020 में दूरदर्शन और आकाशवाणी के दूसरे नम्बर पर सबसे अधिक दर्शक पाकिस्तान और अमेरिका से

Font Size

नई दिल्ली। वर्ष 2020 में, प्रसार भारती के डीडी और आकाशवाणी के डिजिटल चैनलों ने 100 प्रतिशत से अधिक की वृद्धि दर्ज की, एक अरब से अधिक डिजिटल दृश्‍य (व्‍यूज) और 6 अरब से अधिक डिजिटल वॉच मिनट दर्ज किए गए।

वर्ष 2020 के दौरान, न्यूज़ऑनएयर ऐप ने इस प्‍लेटफॉर्म के साथ 25 लाख (2.5 मिलियन) से अधिक उपयोगकर्ताओं को जोड़ा जिससे 30 करोड़ (300 मिलियन) से अधिक विचारों को लाइव रेडियो स्ट्रीमिंग के साथ पंजीकृत किया गया, जिसमें 200 से अधिक वर्ग सबसे लोकप्रिय रहे।

डीडी नेशनल और डीडी न्यूज का साथ देते हुए प्रसार भारती के 10 शीर्ष डिजिटल चैनलों में, डीडी सहयाद्री से मराठी न्‍यूज, डीडी चांदना पर कन्नड़ प्रोग्रामिंग, डीडी बांग्ला से बांग्ला समाचार और डीडी सप्तगिरि पर तेलुगू प्रोग्रामिंग शामिल हैं।

जबकि डीडी स्पोर्ट्स और आकाशवाणी स्पोर्ट्स के लाइव कमेंट्री के कारण दर्शकों व श्रोताओं का एक बड़ा वर्ग डिजिटल रूप से जुड़ गया है, प्रसार भारती अभिलेखागार और डीडी किसान में स्थिर डिजिटल अदाकार रहे हैं जो शीर्ष 10 में है।

पूर्वोत्तर से खबरों के लिए पर्याप्त डिजिटल दर्शकों को देखते हुए, आकाशवाणी समाचार की पूर्वोत्तर सेवा भी शीर्ष 10 में है, और संयोग से 100 हजार ग्राहकों के डिजिटल माइलस्‍टोन को पार कर चुकी है।

दिलचस्प बात यह है कि 2020 के दौरान, भारत के घरेलू दर्शकों के बाद  डीडी और आकाशवाणी में दिए जाने वाले कार्यक्रमों के दूसरे सबसे ज्यादा डिजिटल ऑडियंस पाकिस्तान में थे, अमेरिका भी उसके करीब था।

2020 के दौरान सबसे लोकप्रिय डिजिटल वीडियो में स्कूली छात्रों के साथ प्रधानमंत्री मोदी की बातचीत, गणतंत्र दिवस परेड 2020 और डीडी नेशनल आर्काइव्स, सिरका 1970 से शकुन्‍तला देवी का एक दुर्लभ वीडियो है।

सभी संस्कृत भाषा सामग्री के लिए एक समर्पित प्रसार भारती यूट्यूब चैनल 2020 में शुरू किया गया, जिसमें डीडी-आकाशवाणी के राष्ट्रव्यापी नेटवर्क की रेडियो और टीवी में प्रस्‍तुत संस्‍कृत भाषा सामग्री को दर्शकों तक आसान पहुंच के लिए अपलोड किया गया है।

समर्पित मन की बात यूट्यूब चैनल और ट्विटर हैंडल ने 2020 में तेजी से वृद्धि देखी है, जिसमें मन की बात अपडेट ट्विटर हैंडल के अब 67,000 से अधिक प्रशंसक (फॉलोअर) हैं। यूट्यूब चैनल में मन की बात के विभिन्न एपिसोड के क्षेत्रीय भाषा संस्करण हैं।

विभिन्न भारतीय भाषाओं में लगभग 1500 रेडियो प्ले डीडी-आकाशवाणी नेटवर्क पर उपलब्ध हैं, जिन्हें अब हमारे यूट्यूब चैनलों पर डिजिटाइज और अपलोड किया जा रहा है।

अब हमारे यूट्यूब चैनलों पर विभिन्न भारतीय भाषाओं में हजारों घंटे की शैक्षिक सामग्री और टेलीक्लासेस उपलब्ध हैं।

केवल डीडी-आकाशवाणी के साथ उपलब्ध महान ऐतिहासिक मूल्य की दुर्लभ अभिलेखीय सामग्री डिजिटाइज की जा रही है और प्रसार भारती अभिलेखागार यूट्यूब चैनल पर अपलोड की जा रही है। जनहित में, एक समर्पित टीम देश भर में डीडी और आकाशवाणी के विभिन्न स्टेशनों में कई दशकों में दर्ज किए गए हजारों टेपों से संगीतमय, सांस्कृतिक, राजनीतिक सामग्री को निकालने का काम कर रही है। ताकि इन्‍हें शैक्षिक और अनुसंधान उद्देश्यों के लिए सार्वजनिक रूप से उपलब्‍ध कराया जा सके।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You cannot copy content of this page
%d bloggers like this: