भारतीय रेल बना रहा है देश का 96 केबलों पर लटकने वाला पहला केबल रेलवे पुल !

Font Size

इस परियोजना में चेनाब नदी पुल का निर्माण भी शामिल है। चेनाब ब्रिज का निर्माण कार्य पूरा हो जाने पर यह दुनिया का सबसे ऊंचा रेल ब्रिज बन जाएगा।

नई दिल्ली। भारतीय रेलवे की ओर से जम्मू-कश्मीर (J&K) में कटरा और रियासी को जोड़ने वाले भारत के पहले केबल रेल पुल (India’s 1st cable-stayed rail bridge) “अंजी खाद पुल” का निर्माण जोरों पर है। यह जानकारी रेलवे ने साझा की है। इस पुल को कोंकण रेलवे कॉर्पोरेशन लिमिटेड (KRCL) द्वारा विकसित किया जा रहा है। यह पुल उधमपुर – श्रीनगर – बारामूला रेल लिंक (USBRL) परियोजना का एक भाग है।

Anji Khad पुल के बारे में:

अंजी खाद पुल की कुल लंबाई 473.25 मीटर है.

इसमें एक एकल खंभा है, जिसकी ऊँचाई नदी के तल से 331 मीटर है। इसमें 20 मीटर की अच्छी तरह से नींव की परिधि के चारों ओर 40-मीटर गहराई वाले छोटे स्तंभों का उपयोग करके एक ऊर्ध्वाधर ढलान में खम्बे का निर्माण किया जाना है.

इसमें 96 केबलों की सपोर्ट दी गई है, और इसे तेज हवाओं से लेकर भयंकर तूफान को संभालने के लिए डिजाइन किया गया है।

इस पुल पर विभिन्न स्थानों पर कई सेंसर वाली एक एकीकृत निगरानी प्रणाली भी स्थापित की जाएगी.

यह देश में बनाया जा रहा पहला केबल-स्टेएड रेल ब्रिज है।

इस ब्रिज का निर्माण कोंकण रेलवे कॉर्पोरेशन लिमिटेड (KRCL) द्वारा कराया जा रहा है।

यह ब्रिज ऊधमपुर-श्रीनगर-बारमूला रेल लिंक परियोजना का हिस्सा है।

यह ब्रिज (पुल) कश्मीर को शेष भारत से रेलवे ट्रैक के माध्यम से जोड़ेगा।

यह ब्रिज जम्मू-कश्मीर में माता वैष्णो देवी के आधार शिविर कटरा और रियासी के बीच बनाया जा रहा है।

अंजी ब्रिज जहां बन रहा है उस जगह मौजूद पहाड़ों की जमीन काफी कच्ची है.

काफी कच्ची और मुश्किल चट्टानों के बीच पुल को बनाने का काम किया जा रहा है.

केबल पर बनाए जा रहे इस ब्रिज के लिए एक ऊंचा पिलर बन रहा है जिसके दोनों ओर केबल बांधा जाएगा.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You cannot copy content of this page
%d bloggers like this: