सीमा गुप्ता, निदेशक पावरग्रिड को मिला कारोबारी महिलाओं के लिए 2020 गोल्ड स्टेवी® अवॉर्ड

Font Size

नई दिल्ली : विद्युत मंत्रालय के सार्वजनिक उपक्रम पॉवर ग्रिड कॉर्पोरेशन ऑफ इंडिया लिमिटेड की निदेशक (संचालन) सीमा गुप्ता को कारोबार में महिलाओं के लिए 17वें वार्षिक स्टेवी अवार्ड्स में लाइफटाइम अचीवमेंट बिजनेस श्रेणी में गोल्डन स्टेवी® अवार्ड का विजेता के तौर पर नामित किया गया है।

कारोबार में महिलाओं के लिए स्टेवी अवार्ड्स के तहत महिला कार्यकारी अधिकारियों, उद्यमियों, कर्मचारियों और महिलाओं द्वारा संचालित वैश्विक कंपनियों को सम्मानित किया जाता है। स्टेवी अवार्ड्स को दुनिया का प्रमुख व्यावसायिक पुरस्कार माना जाता है। इस वर्ष के लिए स्वर्ण, रजत और कांस्य स्टेवी पुरस्कारों के विजेताओं का निर्णय विश्व के 180 से अधिक व्यावसायिक पेशेवरों के औसत स्कोर के आधार पर किया गया है।

अवॉर्ड के लिए सीमा गुप्ता के नाम की सिफारिश करते हुए जूरी ने सामान्य तौर पर पुरुषों के वर्चस्व वाले प्रमुख उद्योग में उनकी बेहतरीन आजीवन उपलब्धियों, अपने कार्य क्षेत्र में सतत उत्कृष्टता के द्वारा नेतृत्व क्षमता के प्रदर्शन और कंपनी की सफलता में उनकी भूमिका के लिए प्रशंसा की। जूरी ने कहा कि उनका करियर और उपलब्धियां उनके समर्पण और दृढ़ संकल्प को दिखाती हैं।

जूरी ने उन्हें इंजीनियरिंग क्षेत्र में भारत की महिलाओं के लिए एक प्रेरणा और एक रोल मॉडल के रूप में भी देखा। जूरी ने सुव्यवस्थित, अपने क्षेत्र में उच्च गुणवत्ता के साथ काम करने के लिए विशेषीकृत और अपनी व्यावसायिक सेवाओं को बहुत ही पेशेवर तरीके से करने के लिए पावरग्रिड की भी प्रशंसा की।

श्रीमती गुप्ता को 9 दिसंबर, 2020 को एक वर्चुअल सम्मान समारोह में यह अवॉर्ड दिया जाएगा.

यह वैश्विक मान्यता सीमा गुप्ता के उत्कृष्ट करियर की एक और उपलब्धि है। उन्हें इससे पहले 2017 में भारत के माननीय राष्ट्रपति द्वारा सार्वजनिक क्षेत्र के उद्यमों में उत्कृष्ट महिला प्रबंधकों के लिए विशेष प्रशंसा पुरस्कार से सम्मानित किया गया था और मलेशिया में आईटीओएमएस-2018 सम्मेलन में उन्हें सर्वश्रेष्ठ योगदानकर्ता घोषित किया गया था।

पावरग्रिड के बारे में

विश्व की सबसे बड़ी बिजली पारेषण (पॉवर ट्रांसमिशन) कंपनियों में शामिल पावरग्रिड भारत सरकार के विद्युत मंत्रालय के प्रशासनिक नियंत्रण वाली एक महारत्न केंद्रीय लोक उद्यम (सीपीएसई) है और भारत की केंद्रीय ट्रांसमिशन सेवा है। 30 सितंबर, 2020 तक, कंपनी के देशव्यापी ट्रांसमिशन नेटवर्क में 1,681,40 किमी ट्रांसमिशन लाइनें, 4,198,15 एमवीए परिवर्तन क्षमता (ट्रांसफॉरमेशन कैपेसिटी) के साथ 252 सबस्टेशन शामिल थे। इस विशाल नेटवर्क का वर्षों से 99.5% से ज्यादा उपलब्धता के साथ प्रबंधन किया जा रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You cannot copy content of this page
%d bloggers like this: