पूर्व केंद्रीय मंत्री उमा भारती कोरोना पोजिटिव

55 / 100
Font Size

देहरादून,27 सितम्बर । पूर्व केंद्रीय मंत्री एवं भाजपा नेता उमा भारती भी कोरोना वायरस से संक्रमित हो गई है. उन्हें यह संक्रमण उनके ड्राईवर से हुआ है. उमा भारती ने ट्वीट के माध्यम से यह जानकारी दी है । शनिवार देर रात भारती ने ट्वीट कर बताया है कि केदारनाथ और बदरीधाम की यात्रा के अंतिम दिन उन्होंने प्रशासन से उनकी कोरोना वायरस संक्रमण की जांच कराने का अनुरोध किया. उन्हें तीन दिन से हल्का बुखार आ रहा था।

उमा भारती ने अपने ट्विट में कहा है कि ” मै आपकी जानकारी मै यह डाल रही हू की मैंने आज अपनी पहाड़ की यात्रा के समाप्ति के अन्तिम दिन प्रशासन को आग्रह करके कोरोना टेस्ट के टीम को बुलवाया क्यूँकि मुझे ३ दिन से हलका बुख़ार था ।मै अभी हरिद्वार एवं ऋषिकेश के बीच वन्दे मातरम् कुंज में क्वॉरंटीन हू जो की मेरे परिवार के जैसा है। ४ दिन के बाद फिर से टेस्ट कराऊँगी एवं स्थिति ऐसी ही रही तो डॉक्टरो के परामर्श के अनुसार निर्णय लूंगी ।मेरे इस ट्वीट को जो भी मेरे संपर्क में आये हुए भाई- बहन पढ़े या उन्हें जानकारी हो जाये उन सबसे मेरी अपील है की वो अपनी कोरोना टेस्ट करवाये एवं सावधानी बरते । यहां चिकित्सा की सारी सुविधाएं मौजूद हैं, ऋषिकेश एम्स कुछ ही किलोमीटर की दूरी पर है तथा पौड़ी जिले का प्रशासन मुझे लेकर बहुत ही सजग एवं सतर्क है।

उन्होंने कहा है कि मैं चार दिन के लिए एक ही कमरे में कोरोनटाईन हूं। यहां मोबाइल नहीं चलते इसलिए मैं स्वयं ट्वीट करके जानकारी देती रहूंगी।मीडिया में यह खबर चल रही है कि हिमालय के साधु संतों के संपर्क में मैं आई तथा शायद उसी से मुझे कोरोना हुआ है। मैं इसका खंडन करती हूं।कोरोना तो पहले मेरी गाड़ी के ड्राइवर को हुआ वह स्वयं इससे अनजान था उसके टेस्ट के बाद जब मेरा टेस्ट हुआ तब इस तथ्य से हम सब अवगत हुए।मैं अपने ड्राइवर के लिए बहुत चिंतित हूं क्योंकि उसको कई दिनों से कोरोना था उसकी भी हम ठीक से देखभाल करवा रहे हैं इसलिए मैं मीडिया जगत से प्रार्थना करती हूं कि वह साधु-संतों को इसके लिए दोषी नहीं ठहराएं। मैं पूरे समय सोशल डिस्टेंसिंग की वर्जनाओं का पालन कर रही थी किंतु मेरा ड्राइवर कोरोना पॉजिटिव था तथा वह एवं हम सब अनजान थे। कल रात से ही हम बहुत सतर्क हैं। मेरे कोरोना पॉजिटिव होने की खबर के बाद मेरे सभी आत्मीयजन बहुत चिंता कर रहे हैं। मैं यहां हिमालय की तलहटी में चारों तरफ गंगा की धारा से घिरे हुए वंदे मातरम कुंज में हूं। ”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You cannot copy content of this page
%d bloggers like this: