कोरोना के कारण रेल राज्य मंत्री सुरेश अंगडी का एम्स अस्पताल में निधन

Font Size

नई दिल्ली। देश में कोरोना संक्रमण की गति थमने का नाम नहीं ले रही है। केंद्र सरकार लगातार इस बात के आंकड़े भी प्रस्तर कर रही है कि संक्रमित होने वालों से अधिक संख्या में लोग इस बीमारी से छुटकारा भी आया रहे हैं। दूसरी तरफ के बड़े लोगों के संक्रमित होने जबकि उनमें से कुछ की दुर्भाग्यपूर्ण मौत की खबर भी आ रही है। अभी हाल ही में भजपा के एक राज्यसभा सदस्य की मौत की खबर आई थी जबकि अब बुधवार देर रात रेल राज्य मंत्री सुरेश अंगड़ी के दुखद निधन की खबर ने सबको हिला दिया है। उनका बुधवार को कोरोना की वजह से निधन हो गया।

बताया जाता है कि 65 साल के श्री अंगड़ी को 11 सितंबर को कोरोना पॉजिटिव पाए जाने पर दिल्ली के एम्स में भर्ती कराया गया था। अंगड़ी कर्नाटक के बेलगाम से लोकसभा सदस्य थे। गुरुवार को उनका दिल्ली में अंतिम संस्कार होगा। उनके निधन पर केंद्र सरकार के कार्यालयों में राष्ट्रीय ध्वज आधा झुका रहेगा।

स्वयं के पॉजिटिव होने की जानकारी उन्होंने ट्वीट कर दी थी। उन्होंने कहा था कि मैं कोरोना जांच के बाद संक्रमित पाया गया हूं। मेरी स्थिति ठीक है। डॉक्टरों की सलाह मान रहा हूं। मैं बीते दिनों मेरे संपर्क में आए सभी लोगों से अनुरोध करता हूं कि वे अपने स्वास्थ्य का ध्यान रखें। किसी भी तरह का लक्षण नजर आने पर जांच करवाएं।


उल्लेखनीय है कि श्री अंगाडी नरेंद्र मोदी मंत्रिमंडल के पहले सदस्य हैं, जिनकी मौत कोरोना के कारण हुई है। सुरेश अंगड़ी कर्नाटक के बेलगाम निर्वाचन क्षेत्र से चार बार लोकसभा चुनाव लड़े और जीते । वे 2004, 2009, 2014 और 2019 में चुने गए थे। उन्होंने ला किया था।

वे संक्रमण से जान गंवाने वाले कर्नाटक के दूसरे सांसद हैं। इससे पहले राज्यसभा सांसद अशोक गस्ती की संक्रमण की वजह से मौत हुई थी। मोदी सरकार में केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह, कृषि राज्य मंत्री कैलाश चौधरी, आयुष मंत्री श्रीपद नायक, जल शक्ति मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत और संसदीय राज्य मंत्री अर्जुन राम मेघवाल और पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान भी संक्रमित हो चुके हैं।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रेल राज्य मंत्री सुरेश अंगड़ी के निधन पर दुख जताया। उन्होंने कहा कि श्री अंगाडी असाधारण कार्यकर्ता थे, जिन्होंने कर्नाटक में पार्टी को मजबूत करने के लिए काफी मेहनत की थी। वे समर्पित सांसद और प्रभावशाली मंत्री थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You cannot copy content of this page
%d bloggers like this: