जुलाई की परीक्षाएं होंगी निरस्त, नया सत्र अक्टूबर से

Font Size

—- शैक्षणिक सत्र व परीक्षा को लेकर यूजीसी का दिशा निर्देश शीघ्र
— चल रहा बड़ा मंथन, जारी होंगी नई गाइडलाइन
—- स्वास्थ्य व सुरक्षा पर विशेष फोकस


दरभंगा। कोरोना काल में विश्ववविद्यालय अनुदान आयोग यानी यूजीसी भी कम परेशान नहीं है। जून-जुलाई में प्रस्तावित परीक्षाएं एवम नए सत्रों की शुरुआत करने को लेकर हाल ही में जारी गाइडलाइन व दिशा निर्देशों को अब यूजीसी फिर नए सिरे से जारी करने जा रहा है। यह बदलाव मानव संसाधन मंत्रालय के कहने पर हो रहा है।

इस बार छात्रों, शिक्षकों के साथ साथ अन्य कर्मियों के स्वास्थ्य व सुरक्षा पर विशेष फोकस देने पर जोर है। वहीं, हरियाणा विश्ववविद्यालय के कुलपति प्रो0 आर0 सी0 कुहद के नेतृत्व में गठित यूजीसी की उच्च स्तरीय विशेषज्ञ समिति की इस मामले में दिये गए दिशा निर्देशों को शीघ्र जारी करने पर विचार चल रहा है। एक सप्ताह के अंदर नए शैक्षणिक सत्र व परीक्षा संचालन करने के मामले में नया गाईड लाईन जारी हो जाएगा।


उक्त जानकारी देते हुए संस्कृत विश्ववविद्यालय के उपकुलसचिव निशिकांत ने बताया कि यूजीसी में चल रहे बड़े मंथन से साफ जाहिर है कि जून-जुलाई की सभी फाइनल सेमेस्टर परीक्षाएं स्थगित हो जाएगी। अगस्त- सितम्बर से प्रस्तावित शुरू होने वाले नए शैक्षणिक सत्र अब अक्टूबर जा सकता है।

विचार यह भी चल रहा है कि पूर्व के सेमेस्टर में छात्रों के परफॉर्मेंस को आधार बनाकर अगले सेमेस्टर में बिना परीक्षा लिए ही स्कोर का निर्धारण कर दिया जाय। जाहिर है ऐसे में कुछ छात्रों को अपने स्कोरिंग को लेकर सन्तुष्टि नहीं हो सकती है । जहां ऐसे सवाल उठते हैं तो वहां कोरोना संक्रमण काल के बाद वैसे छात्र अलग से परीक्षा देकर अपने शैक्षणिक स्तर को उन्नत कर सकते हैं।


इसके अलावा अन्य कई विन्दुओं पर आगामी सप्ताह यूजीसी का स्पष्ट दिशा निर्देश सामने आ जायेगा। मंत्रालय ने अन्य वैकल्पिक उपायों पर भी विशेषज्ञ समिति को विचार करने कहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: