छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने राज्य के प्रवासी श्रमिकों की वापसी के लिए 28 ट्रेनें मांगी

Font Size

रायपुर,02 मई । छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने रेल मंत्री पीयूष गोयल को पत्र लिखकर उनसे छत्तीसगढ़ के प्रवासी श्रमिकों की वापसी के लिए देश के विभिन्न शहरों से 28 ट्रेनों के संचालन का अनुरोध किया है। बघेल ने इस पत्र में जम्मू से रायपुर-बिलासपुर सात ट्रेनें, लखनऊ से रायपुर-बिलासपुर तीन ट्रेनें, कानपुर से रायपुर-बिलासपुर दो ट्रेनें, चेन्नई से रायपुर-बिलासपुर एक ट्रेन, बंगलौर से रायपुर-बिलासपुर एक ट्रेन, पुणे से रायपुर-बिलासपुर दो ट्रेनें, इलाहाबाद से बिलासपुर एक ट्रेन, दिल्ली से रायपुर-बिलासपुर तीन ट्रेनें, हैदराबाद-सिकंदराबाद से रायपुर-बिलासपुर तीन ट्रेनें, विशाखापट्नम से रायपुर एक ट्रेन, सूरत-अहमदाबाद से रायपुर एक ट्रेन, कोलकाता से रायपुर एक ट्रेन, जयपुर से रायपुर एक ट्रेन, पटना से दुर्ग एक ट्रेन के संचालन का आग्रह किया है।

उन्होने पत्र में श्री गोयल से मानवीय आधार पर रेलवे द्वारा ट्रेनों के संचालन की नि:शुल्क व्यवस्था करने और ट्रेनों के संचालन के लिए जल्द से जल्द तारीख और समय तय करने का आग्रह किया है। उऩ्होने कहा कि रेलवे बोर्ड के द्वारा एक मई को जारी पत्र के अनुसार स्लीपर मेल एवं एक्सप्रेस ट्रेन के लिए शुल्क निर्धारित किया गया है, जो कि उचित नहीं है क्योंकि सभी प्रवासी श्रमिक लाकडाउन के कारण फंसे हुए हैं और पीड़ित हैं।

उन्होने पत्र में बताया है कि इस समय छत्तीसगढ़ के बड़ी संख्या में प्रवासी श्रमिक देश के विभिन्न हिस्सों में फंसे हुए हैं। हेल्पलाइन और अन्य माध्यमों से प्राप्त सूचना के अनुसार लगभग 1.17 लाख से भी अधिक प्रवासी कामगार देश के 21 राज्यों और 4 केन्द्र शासित प्रदेशों में फंसे होने की जानकारी है। परिवहन की प्रक्रिया शुरू होने के बाद संख्या बढ़ सकती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: