50 से अधिक देशों के बिजनेसमैन का भारत में कोरोना पर नजर

Font Size

‘इन्वेस्ट इंडिया’ की वेबसाइट पर आये दो लाख विजिटर्स

‘कोविड के लिए दान’ को कर रहे हैं सर्वाधिक सर्च

सुभाष चन्द्र चौधरी

नई दिल्ली :  वाणिज्य एवं उद्योग मंत्रालय के अधीनस्‍थ भारत की राष्ट्रीय निवेश संवर्धन और सुविधा एजेंसी ‘इन्वेस्ट इंडिया’ की वेबसाइट पर उपलब्‍ध द इन्वेस्ट इंडिया बिजनेस इम्युनिटी प्लेटफॉर्म एक व्यापक संसाधन के रूप में चौबीसों घंटे काम कर रहा है, जिससे कारोबारियों तथा निवेशकों को भारत में ‘कोविड-19 (कोरोना वायरस)’ से निपटने के लिए उठाए जा रहे ठोस कदमों पर वास्तविक समय में नवीनतम जानकारियां (अपडेट) प्राप्‍त होने में मदद मिल रही है। 21 मार्च, 2020 को लॉन्‍च किए गए इस प्‍लेटफॉर्म पर आज प्रात: 10 बजे तक 50 से ज्‍यादा देशों के 1.75 लाख से भी अधिक विजिटर आ चुके हैं। इस वेबसाइट पर 205 ब्लॉग, इन्फोग्राफिक्स, वीडियो और अन्‍य आवश्‍यक सामग्री के साथ-साथ 423 सरकारी एडवाइजरी और अधिसूचनाएं भी हैं। इस वेबसाइट पर सर्वाधिक सर्च किया गया शब्द ‘कोविड के लिए दान’ था।

बिजनेस इम्युनिटी प्लेटफॉर्म (बीआईपी) दरअसल कारोबार से जुड़े मुद्दों को सुलझाने वाला एक सक्रिय प्लेटफॉर्म है, जहां संबंधित सेक्‍टर के विशेषज्ञों की एक टीम जल्द से जल्द प्रश्नों का उत्तर देती है। इन्वेस्ट इंडिया ने एमएसएमई (सूक्ष्‍म, लघु एवं मध्‍यम उद्यम) के प्रश्नों का जवाब देने और उनके मुद्दों को सुलझाने के लिए सिडबी (भारतीय लघु उद्योग विकास बैंक) के साथ साझेदारी करने की भी घोषणा की है।

यह गतिशील और निरंतर अद्यतन या अपडेट किए जाने वाला प्लेटफॉर्म वायरस से जुड़े घटनाक्रमों पर नियमित रूप से पैनी नजर रखता है, केंद्र एवं राज्य सरकारों की विभिन्न पहलों के बारे में नवीनतम सूचनाएं प्रदान करता है, विशेष प्रावधानों या सुविधाओं तक पहुंच प्रदान करता है, और ईमेल के जरिए तथा व्हाट्सएप पर प्रश्नों का उत्तर देता एवं मुद्दों को सुलझाता है। इस पर अब तक कारोबार में आवश्‍यक सहयोग देने से जुड़े 845 प्रश्‍न प्राप्‍त हुए हैं, जिनमें से 614 मुद्दों को पहले ही सुलझाया जा चुका है। ये सवाल मुख्‍यत: लॉजिस्टिक्स, अधिसूचनाओं, सीमा शुल्क से जुड़े मुद्दों, संयंत्रों को बंद करने और दिए गए विभिन्‍न स्पष्टीकरणों के बारे में थे।

बीआईपी ने स्‍वास्‍थ्‍य देखभाल से संबंधित आवश्यक आपूर्ति या वस्‍तुओं को खरीदने के लिए ‘ज्‍वाइनिंग द डॉट्स’ अभियान शुरू किया है। यह कोविड-19 का सामना करने के लिए आवश्यक उपकरणों की मांग एवं आपूर्ति में अंतर को पूरा करने के लिए विकल्‍पों की सुविधा भी प्रदान कर रहा है। इसकी हितधारक पहुंच कोशिशों से लगभग 2000 वैश्विक और घरेलू कॉरपोरेट तथा हितधारकों से संपर्क करना संभव हो पाया है। इस वेबसाइट पर ‘स्टार्टअप चुनौती: कोविड-19 से निपटने के लिए समाधान’ पर 17 राज्यों से 120 से भी अधिक आवेदन प्राप्त हुए हैं।

इसने अमेरिकी वित्तीय सेवा कंपनियों के साथ विशेष सम्मेलन का आयोजन किया, जिस दौरान देश में लॉकडाउन के कारण कारोबार की निरंतरता सुनिश्चित करने से जुड़े मुद्दों की पहचान करने और समाधान पर फोकस किया गया। ‘कोविड-19 के बढ़ते प्रकोप के बीच स्‍टार्टअप्‍स के कारोबार में निरंतरता’ विषय पर उद्योग जगत के दिग्गजों और अन्य हितधारकों के पैनल के साथ ‘वेबिनार’ का आयोजन किया गया है। कोविड-19 के दौरान ‘संभावित वित्‍तपोषण और सहयोग: स्टार्टअप्स के लिए अवसर’ और ‘घर से ही ऑफि‍स का काम करने की ओर अग्रसर’ होने के मॉडल पर चर्चाएं हुईं। अमेरिका की लाइफ साइंसेज कंपनियों के साथ एक विशेष सम्मेलन का आयोजन किया गया, ताकि लॉकडाउन के दौरान उनके सामने उत्‍पन्‍न हुई समस्‍याओं और उनके निवारण के तरीकों पर चर्चा की जा सके।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You cannot copy content of this page
%d bloggers like this: