गुरुग्राम में कोरोना महामारी के संक्रमण से बचाव को लेकर इमरजेंसी आप्रेशन सैंटर स्थापित

Font Size

गुरूग्राम, 24 मार्च। कोरोना महामारी से होने वाले संक्रमण से बचाव व सावधानियों को लेकर जिला में इमरजेंसी आप्रेशन सैंटर(ईओसी) बनाया गया है। इस सैंटर में कोरोना महामारी संक्रमण से संबंधित सूचनाएं एकत्रित की जाएंगी । इस ईओसी का दूर भाष नंबर 1950 है। यह ईओसी लघु सचिवालय के सरल केंद्र में बनाया गया है।

इस बारे में जानकारी देते हुए उपायुक्त अमित खत्री ने बताया कि ईओसी में लोगों की सुविधा के लिए कंट्रोल रूम बनाया गया है। इस कंट्रोल रूम में लगाए गए हैल्पलाइन नंबर 1950 पर लोग महामारी संबंधी तैयारियों व बचाव उपायों के बारे में जानकारी प्राप्त करने के अलावा अन्य सूचना सांझा कर सकते हैं। ईओसी के रिस्पांसिबल आफिसर उपायुक्त अमित खत्री स्वयं होंगे जबकि अतिरिक्त उपायुक्त प्रशांत पंवार इंसीडेंट कमांडर बनाये गए हैं। इसी प्रकार, नगराधीश मनीषा शर्मा को सैंटर लायजन आॅफिसर के तौर पर नियुक्त किया गया है। उन्होंने बताया कि जिला में एक आपदा प्रबंधन योजना बनी हुई है, जोकि भूकंप जैसी प्राकृतिक आपदा से निपटने के लिए बनाई गई थी लेकिन कोरोना महामारी संक्रमण भी किसी आपदा से कम नहीं है इसलिए जिला की डिजास्टर मैनेजमेंट प्लान अर्थात आपदा प्रबंधन योजना के अनुसार विभिन्न सरकारी विभागों के अधिकारियों की ड्यूटी लगाई गई हैं। इसी प्लान के अंतर्गत ईओसी की स्थापना गुरुग्राम के लघु सचिवालय में की गई है, जिसका दूरभाष नंबर 1950 है। इस नम्बर पर कोविड 19 से संबंधित सूचनाएं प्राप्त की जाएंगी और संबंधित अधिकारियों को कार्रवाई करने के आदेश दिए जाएंगे । ईओसी में तीन शिफटों में कर्मचारियों की ड्युटी लगाई गई है। यहां पर सूचनाएं एकत्रित करने के अलावा लोगों को बीमारी से बचाव उपायो और क्या करना चाहिए तथा क्या नहीं करना चाहिए आदि के बारे में भी बताया जाएगा। जिला राजस्व अधिकारी मनबीर सिंह को इस ईओसी का इंचार्ज बनाया गया है। इसके अलावा, स्वास्थ्य विभाग की हैल्पलाइन नंबर-108, मोबाइल नंबर- 9953618102 तथा 0124-2322412 पर भी लाइनें 24 घन्टे चालू रहेंगी।

जिला विकास एवं पंचायत अधिकारी नरेन्द्र सारवान ने बताया कि जिला में कोरोना वायरस संक्रमण से बचाव को लेकर अब स्वयंसेवी संस्थाएं व अन्य लोग आगे आ रहे है। जिला में कार्यरत कई संस्थाओं व लोगों ने जिला प्रशासन से संपर्क करके वालंटियर के तौर पर अपना सहयोग देने की इच्छा जताई है। जिला प्रशासन द्वारा ऐसी संस्थाओं व लोगों को कोरोना वायरस को लेकर विशेषज्ञो से ट्रैनिंग दिलवाई जा रही है। ट्रैनिंग के दौरान लोगों को एक दूसरे से उचित दूरी पर बिठाया जा रहा है ताकि वे एक दूसरे के संपर्क में ना आए। ट्रैनिंग उपरांत लोगों को फील्ड मे भेजा जा रहा है जो लोगों को कोरोना वायरस संक्रमण से बचाव के लिए प्रेरित कर रहे हैं।

श्री सारवान ने बताया कि जिला उपायुक्त के निर्देशानुसार जिला में क्वारंर्टाइन एन्फोर्समेंट टीमें भी बनाई गई हैं। एक टीम में 4 से 5 सदस्यों को शामिल किया गया है। उन्होंने बताया कि लोगों की सुविधा को ध्यान में रखते हुए जिला के चारो जोन में 8 क्वारंर्टनाइन एंफोर्समेंट टीमें बनाई गई है। ये टीमें सुनिश्चित कर रही हैं कि जो लोग क्वारंर्टाइन किए गए हैं, वे नियमानुसार इसका पालन करें और अपने घरों से बाहर ना निकलें।

उपायुक्त श्री खत्री ने आम जन से अपील करते हुए कहा कि लाॅक डाउन के दौरान अपने घरों में ही रहें, जब तक बहुत जरूरी ना हो, घर से बाहर ना निकलें और गंभीरता से सरकारी आदेशों का पालन करें, ये आपके लिए ही है ताकि आप स्वस्थ रहें, कोविड 19 से संक्रमण मुक्त रहें और अपने परिवार को भी स्वस्थ रखें। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार द्वारा लाॅक डाउन का निर्णय लोगों की सुरक्षा के दृष्टिगत लिया गया है इसलिए लॉक डाउन के नियमों का पालन करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: