नरेंद्र मोदी ने कहा : कांग्रेस ने भारत की संसद के खिलाफ ही आंदोलन शुरू कर दिया है

Font Size

तुमकुर/कर्णाटक  : प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने आज कर्णाटक के तुमकुर में किसानों को कृषि कर्मन अवार्ड से पुरस्कृत किया. साथ ही एक साथ देश के 6 करोड़ किसान परिवारों के खाते में 12 हजार करोड़ रुपए भी जारी किये. इस अवसर पर आयोजित जनसभा को संबोधित करते हुए पीएम ने कहा कि  मैं, भारत की संसद के खिलाफ आंदोलन करने वालों से कहना चाहता हूं कि अगर आपको आंदोलन करना ही है तो पाकिस्तान के पिछले 70 साल के कारनामों के खिलाफ आवाज उठाइए। उन्होंने कहा कि अगर आपको जुलूस निकालना है तो पाकिस्तान से आए दलित-पीड़ित-शोषितों के समर्थन में जुलूस निकालिए.

पीएम मोदी  विपक्ष की आलोचना करते हुए कहा कि कांग्रेस और उनके साथी दल, जिस तरह की नफरत हम लोगों से करते हैं, वैसा ही स्वर अब देश की संसद के खिलाफ दिख रहा है। इन लोगों ने भारत की संसद के खिलाफ ही आंदोलन शुरू कर दिया है। ये लोग पाकिस्तान से आए दलितों-पीड़ितों-शोषितों के ही खिलाफ आंदोलन कर रहे हैं.

उन्होंने कहा कि भारत ने नई ऊर्जा और नए उत्साह के साथ 21वीं सदी के तीसरे दशक में प्रवेश किया है। आपको याद होगा कि बीते दशक की शुरुआत किस तरह के माहौल से हुई थी। लेकिन 21वीं सदी का ये तीसरा दशक उम्मीदों की, आकांक्षाओं की मजबूत नींव के साथ शुरु हुआ है.

पीएम ने बताया कि Deep sea fishing के लिए मछुआरों की नावों का आधुनिकीकरण किया जा रहा है और ISRO की मदद से मछुआरों की सुरक्षा के लिए नेविगेशन डिवाइस नावों में लगाए जा रहे हैं। आज यहां तमिलनाडु और कर्नाटक के अनेक किसानों को इसका लाभ लेते हुए आपने भी देखा है. मछलीपालकों को किसान क्रेडिट कार्ड की सुविधा से जोड़ा जा चुका है। उनकी सहूलियत के लिए बड़ी नदियों और समंदर में नए फिशिंग हार्बर बनाए जा रहे हैं।

उनका कहना था कि आधुनिक इंफ्रास्ट्रक्चर के लिए साढ़े 7 हज़ार करोड़ रुपए का विशेष फंड भी बनाया गया है. Horticulture के अलावा दाल, तेल और मोटे अनाज के उत्पादन में भी दक्षिण भारत का हिस्सा अधिक है। कर्नाटक हो, केरल हो, आंध्र हो, तेलंगाना हो, तमिलनाडु हो यहां Horticulture और मसलों से जुड़े प्रोडक्ट्स की प्रोसेसिंग की व्यापक संभावनाएं हैं . भारत में दाल के उत्पादन को बढ़ावा देने के लिए बीज हब बनाए गए हैं, जिनमें से 30 से अधिक सेंटर कर्नाटक, आंध्र, केरल, तमिलनाडु और तेलंगाना में ही हैं.

पीएम ने अपने संबोधन में यह कहते हुए स्पष्ट किया कि हमारी सरकार अन्य बातों के साथ इस बात का भी ध्यान रख रही है कि नारियल के किसानों को भी उचित दाम मिले। इसके लिए नारियल किसानों से जुड़े संघ और सोसाइटी बनाये जा रहे हैं, मुझे बताया गया है कि यहां कर्नाटक में ही करीब 550 ऐसी संस्थाए बनायीं जा चुकी हैं. उन्होंने कहा कि हमारी सरकार के प्रयासों के कारण भारत द्वारा मसालों के उत्पादन और निर्यात, दोनों में काफी बढ़ोतरी हुई है। भारत में मसाला उत्पादन 25 लाख टन से अधिक बढ़ा है तो एक्सपोर्ट भी करीब 15 हज़ार करोड़ से बढ़कर लगभग 19 हज़ार करोड़ रुपए तक पहुंच चुका है .

सौर ऊर्जा से होने वाले लाभ की चर्चा करते हुए उन्होंने कहा कि किसान अपने खेत में ही सौर ऊर्जा पैदा करके उसे नेशनल ग्रिड में बेच सके, इसके लिए पीएम कुसुम योजना शुरू की गई है। अन्नदाता ऊर्जादाता बने इस दिशा में हमने महत्वपूर्ण कदम उठाये हैं . इस कार्यक्रम में ही अभी एक साथ देश के 6 करोड़ किसान परिवारों के खाते में 12 हजार करोड़ रुपए जमा करवाए गए हैं.

किसानों को संबोधित करते हुए कहा कि कृषि कर्मण अवार्ड के साथ ही आज कर्नाटक की ये धरती एक और ऐतिहासिक उपलब्धि की गवाह बनी है।

उल्लेखनीय है कि आज प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि के तहत 8 करोड़वें किसान साथी के खाते में पैसा जमा किया गया है।इतने कम समय में ये उपलब्धि हासिल करना बहुत बड़ी बात है.  आज ही यहां तमिलनाडु और कर्णाटक के मछली पलकों और मछुवारा Deep sea fishing boats और transponders दिए गए हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: