पुणे के छह युवाओं के स्वच्छता संकल्प को मिला सैकड़ों का साथ

Font Size

सुभाष चौधरी/प्रधान संपादक

पुणे : आज युवाओं में देश व समाज के लिए कुछ करने की इच्छा उफान मार रही है. अपने व्यस्ततम समय में से कुछ समय सामाजिक उत्थान के लिए निकालने में इन्हें कोई परहेज नहीं है. कुछ ऐसा ही उदहारण पुणे के छह युवाओं के समूह ने पेश किया है. उन्होंने साल 2020 में अपने शहर पुणे के लिए कुछ अच्छा करने की सोच के तहत प्रत्येक रविवार को स्वच्छता अभियान चलाने का निर्णय लिया. आश्चर्यजनक बात यह है कि उनके इस अभियान को पिछले लगभग 36 से 40 घंटे के दौरान ही शहर के विभिन्न क्षेत्रों में रहने वाले सैकड़ों लोगों ने इसका जबरदस्त समर्थन किया और उनके इस अभियान से जुडकर इसे और मजबूती प्रदान करने का ऐलान किया.

महारष्ट्र राज्य के प्रमुख शहर पुणे के इस युवा ग्रुप के एक साथी कपिल पटवर्द्धन ने अपने इस निर्णय की घोषणा ट्विटर के माध्यम से गत साल 2019 के अंतिम दिन यानी 31 दिसम्बर मंगलवार को लगभग 11.23 में की. अपने सभी छह साथियों जिनमें चार लड़के सुधांशु साने, कपिल पटवर्धन, यश साह, साई नांदुरकर और 2 लड़कियां शताक्षी किनिकर और सुहृद शामिल हैं ने गारबेज बण्डल सहित फोटोग्राफ और नव वर्ष 2020 के लिए अपना संकल्प ( New Year Resolution ) शेयर किया. कपिल पटवर्धन ने बताया कि वे एक उद्यमी हैं और एनिमल वेलफेयर के लिए काम करते हैं. उन्होंने फ्लूफ़ ( Floof ) नामक संस्था का गठन किया है. उन्होंने अपने ट्वीट . #pune #cleanpune में लिखा कि नए साल में कुछ अच्छा करने की मंशा से वे अपने शहर पुणे के उस भाग में स्वच्छता अभियान चलाना चाहते हैं जहाँ कूड़े का अम्बार लगा हुआ है. गन्दगी चरम पर है लेकिन गारबेज कलेक्ट करने वाले वाहन वहाँ नहीं आते हैं और न ही उन इलाके की सफाई पर किन्हीं का ध्यान जाता .

कपिल पटवर्द्धन ने कहा है कि वे अपने अन्य साथियों के साथ प्रत्येक रविवार ऐसे इलाके में ही स्वच्छता अभियान चलाएंगे जहाँ गारबेज वाहन की पहुँच नहीं है. उन्होंने पुणे शहर के युवाओं और अन्य लोगों से भी इस अभियान में शामिल होने का आह्वान किया. अपने स्वच्छता अभियान का आरंभ नए वर्ष 2020 के पहले रविवार को यानि 5 जनवरी को करेंगे.

उनके इस अभियान को लोगों ने हाथोंहाथ लेना शुरू कर दिया. पिछले 36 से 40 घंटे के दौरान ही ट्विटर पर उनसे जुड़ने की इच्छा जताने वाले युवा और अन्य प्रोफेशनल्स की संख्या सैकड़ों में हो गयी. इससे यह सहज ही अंदाजा लगाया जा सकता है कि जनहित के विषयों को लेकर आज युवा पीढी किस कदर संवेदनशील हो गयी है. केवल आवश्यकता है उन्हें रास्ता दिखाने और उनके लिए लक्ष्य निर्धारित करने की.

कपिल पटवर्द्धन के स्वच्छता अभियान आरम्भ करने की जानकारी देने वाले ट्वीट को 459 लोगों ने लाइक किया है जबकि 155 लोगों ने रीट्विट किया है. साथ ही 26 लोगों ने उनके इस अभियान की सराहना करते हुए अपने कदम आगे बढाने की बात की है. कुछ ने उनसे उन स्थानों की जानकारी मांगी है जबकि कुछ ने सीधे उनसे जुड़ने की हामी दी है जबकि वाजिहुल्ला खान ने उन्हें इस अभियान में व्यक्तिगत सुरक्षा के उपाय करने की भी सलाह दी है. उन्होंने गारबेज में हेजार्ड्स मेटेरियल्स भी होने की आशंका जताई है.

पटवर्धन ने अपने जवाब में पुणे के आसपास हिल्स या हिल्स के बेस में बड़े पैमाने पर गन्दगी के ढेर होने की जानकारी दी है जबकि शहर के ऐसे भाग में भी स्वच्छता अभियान चलाने की सहमति दी है जिसके बारे में आम लोगों से भी जानकारी मिलेगी.

कई युवा प्रोफेशनल्स ने उन्हें अपनी टीम में शामिल करने की सहमति दी है. प्रतीक अग्रवाल ने कहा है कि मुझे भी टीम में शामिल कर लें जबकि रफीक अहमद ने इसे सभी भारतीय के लिए उत्साहवर्धक बताया है. प्राची ने इस अभियान का हिस्सा बनने की बात की है और मनीष ने भी अपनी रूचि दिखाई है. योगेश निकल ने इस अभियान को आरम्भ करने की सराहना की है. क्लिनिकल सायकोलोजिस्ट पियाली भी पटवर्धन के इस अभियान का सदस्य बनने को तैयार है.

निकिता और विष्णु प्रिया ने ट्विटर के माध्यम से पुणे शहर को स्वच्छ बनाने के लिए काम करना स्वीकार किया है जबकि सिद्धांत उपाध्याय और प्रवीन कलाके भी युवाओं का साथ देने को तैयार हैं. अनुराग शर्मा ने अगले सप्ताह के लिए नए लोकेशन की जानकारी मांग कर इसमें साथ देने की इच्छा जताई है.

पटवर्धन के इस अभियान को लाइक करने वालों में चार्लोती चूनावाला, शहीद अहमद, अरुण कुमार , दानिश माली, नीतीश सचान, सुशांत श्रीवास्तव, शेखर झा, आशीष मिश्रा, अरुण किशोर , मोहन सिंह, पल्लवी मिश्र और साधना गुप्ता जैसे सैकड़ों युवा प्रोफेशनल्स शामिल हैं. उन्हें यह लाइक करने वालों की संख्या लगातार बढती जा रही है और यही रफ़्तार आगे भी जारी रही तो इसमें कोई दो राय नहीं कि 6 युवाओं की यह कोशिश शीघ्र ही पुणे शहर में बड़े बदलाव की सूत्रधार बनेगी.

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: