फरीदाबाद उपायुक्त कार्यालय में अगले 6 महीने में ई-ऑफिस प्रणाली लागू की जाएगी : डीसी यशपाल यादव

Font Size

– नवनियुक्त उपायुक्त पदभार संभालते ही कि अपनी प्राथमिकताएं तय

– मीडिया से हुए रूबरू

फरीदाबाद,30 दिसम्बर। जिला के नवनियुक्त उपायुक्त यशपाल यादव ने कहा कि अगले छः माह में उपायुक्त कार्यालय में ई-ऑफिस प्रणाली लागू की जाएगी, जिसके बाद फाइलों से छेड़छाड़ संभव नहीं होगी और फाइल गुम होने की समस्या का भी निदान होगा।

फरीदाबाद जिला उपायुक्त का पदभार संभालने के बाद मीडिया से रूबरू होते हुए यशपाल यादव ने अपनी प्राथमिकताएं मीडिया से सांझी की और कहा कि आज ही सभी जिला अधिकारियों के साथ बैठक करके उन्हें निर्देश दे दिए जाएंगे कि वे प्रातः 9:00 से सांय 5:00 बजे तक कार्यालय समय में अपनी ड्यूटी पर कार्यालय में हाजिर रहे और प्रातः 11:00 बजे से 12:00 बजे तक का समय जनसुनवाई के लिए रखें। उन्होंने कहा कि वे स्वयं भी कार्य दिवसों के दौरान प्रातः 11:00 से दोपहर 12:00 बजे तक आम जनता की समस्याएं सुनेंगे। इस दौरान कोई भी व्यक्ति उनसे बिना किसी अपॉइंटमेंट के मिल सकता है। यशपाल यादव ने कहा कि हम जनता के लिए पूरे समय ड्यूटी पर उपलब्ध रहेंगे और जनसेवक होने के नाते आम जनता की समस्याओं को सुलझाने का प्रयास करेंगे। एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि वे स्वयं वक्त के पाबंद है और दूसरों से भी यही अपेक्षा रखते हैं। वे चाहते हैं कि सभी अधिकारीगण समय पर अपने कार्यालय में आए और अपनी जिम्मेदारी ईमानदारी से निभाएं। जिस विभाग की जो जिम्मेदारी है वह विभाग उसे सरकार द्वारा निर्धारित समय सीमा में पूरा करें और जो नहीं करेंगे उनके खिलाफ कार्रवाई भी हो सकती है।

समाचार पत्रों में छपने वाली खबरों पर एक्शन होगा कि नहीं, इस बारे में पूछे गए एक सवाल के जवाब में श्री यादव ने कहा कि पलवल में उपायुक्त के पद पर रहते हुए उन्होंने ऐसी व्यवस्था की थी कि सभी जिला अधिकारियों का व्हाट्सएप पर एक ग्रुप बनाया हुआ था, जिसमें खबर को स्कैन करके डाला जाता था और संबंधित विभाग के अधिकारी उसी ग्रुप में एक्शन टेकन रिपोर्ट प्रस्तुत करते थे। वैसी व्यवस्था यहां फरीदाबाद जिला में भी शुरू की जाएगी। उन्होंने कहा कि वे फरीदाबाद जिला में पहले भी सेवाएं दे चुके हैं, वे यहां पर एसडीएम रहे तथा जीएम रोडवेज का दायित्व निभाया इसलिए यह जिला उनके लिए कोई नया नहीं है। वे यहां की समस्याओं से भी भली प्रकार परिचित है।

सर्दी के मौसम में वाजिब स्थान पर रेन बसेरे स्थापित करने के बारे में भी उन्होंने मीडिया प्रतिनिधियों से सुझाव आमंत्रित किए और कहा कि अच्छे सुझाव पर जरूर गौर किया जाएगा। उन्होंने कहा कि आम जनता की समस्याओं का समयबद्ध तरीके से निवारण करने की प्रणाली विकसित की जाएगी ।
लोगों की समस्याओं को जानने के संबंध में पूछे गए सवाल के जवाब में श्री यादव ने कहा कि नगर निगम फरीदाबाद के प्रत्येक वार्ड के लिए एक अधिकारी को नोडल अधिकारी नियुक्त किया जाएगा, जो वहां के लोगों की मदद करेगा और उनकी समस्याओं का समाधान करवाएगा। कचरा प्रबंधन के विषय में पूछे गए सवाल के जवाब में नवनियुक्त उपायुक्त ने कहा कि यह एक ऐसा विषय है जिसे हर रोज मॉनिटर करने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि नगर निगम गुरुग्राम के आयुक्त पद पर रहते हुए इस बारे में उनका अनुभव है जिसका लाभ फरीदाबाद को भी मिलेगा और आने वाले दिनों में लोगों को फर्क महसूस होगा। उन्होंने यह भी कहा कि नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल के आदेश अनुसार महीने में दो बार उपायुक्त द्वारा नगर निगम तथा नगर पालिकाओं के कचरा प्रबंधन कार्यों की समीक्षा करनी होती है, उसमें उन्हें कोई कमी दिखाई देगी तो उस कमी को दूर किया जाएगा। एक अन्य सवाल के जवाब में श्री यादव ने कहा कि सरकारी विभागों से संबंधित सेवाएं प्रदान करने के लिए राइट टू सर्विस एक्ट में समय सीमा निर्धारित है और आम जनता को उसी समय सीमा में सेवाएं मिलें, इस पर उनका बल रहेगा। उन्होंने कहा कि सभी विभागों के अधिकारियों के बीच बेहतर तालमेल स्थापित करके जिला में विकास की गतिविधियों को तेजी प्रदान करना उनकी प्राथमिकता रहेगी। जब मीडिया प्रतिनिधियों द्वारा उन्हें बताया गया कि फरीदाबाद जिला में पब्लिक डीलिंग के विभागों में दलालों का बोलबाला है तो उन्होंने कहा कि बिचौलियों की प्रथा अब सख्ती से बंद की जाएगी और इस बारे में अधिकारियों को दिशा निर्देश दे दिए जाएंगे।

सड़कों के किनारे क्षतिग्रस्त होने के बारे में पूछे गए सवाल का जवाब देते हुए श्री यादव ने कहा कि सड़कों को सुरक्षित बनाने पर हर महीने रोड सेफ्टी बैठक में विचार विमर्श किया जाएगा ।

इस मौके पर बड़खल के एसडीएम पंकज सेतिया भी उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You cannot copy content of this page
%d bloggers like this: