मिनी सुल्तानगंज बना देवापुर बेलवा बागमती लालबकेया नदी संगम तट, सुरक्षा के कड़े प्रबंध

Font Size

लाखों शिवभक्त जलबोझी कर सोमेश्वर महादेव मंदिर अरेराज के लिए हो चुके हैं रवाना

मेले की व्यवस्था व सुरक्षा पर जिला प्रशासन की कड़ी नजर, एनडीआरएफ व पुलिस तैनात

जिलाधिकारी रमन कुमार ने किया मेले का दौरा, दिया सख्त निर्देश

चार लाख डाक बम शिव भक्त कांवरिया जलबोझी करेंगे आज

नीरज कुमार सिंह

मोतिहारी। बिहार के प्रमुख जिला मोतिहारी स्थित देवापुर बेलवा बागमती लालबकेया संगम घाट पर शिवभक्त कांवरियों का जत्था जलबोझी करने के लिए उमड़ पड़ा है। हर वर्ष की भांति इस वर्ष भी अनंत चतुर्दशी के अवसर पर राज्य के सुप्रसिद्ध पर्यटक स्थल अरेराज स्थित सोमेश्वर नाथ महादेव मंदिर में बड़ी संख्या में श्रद्धालु जलाभिषेक करेंगे। इस धार्मिक तिथि को जलाभिषेक के लिए कांवरियों का उत्साह चरम पर है। जलाभिषेक करने वाले बागमति एवं लालबकेया नदी के संगम घाट देवापुर से जलबोझी कर रहे हैं। सोमवार को खबर लिखे जाने तक एक लाख से अधिक कावरियों द्वारा इस संगम से जलबोझी किया जा चुका था। सभी कावरिये जल उठाने के बाद बोल बम के जयकारे के साथ भक्ति भाव से अरेराज सोमेश्वर नाथ महादेव मंदिर की ओर प्रस्थान कर रहे है। दूसरीं तरफ जिला प्रशासन मेले की व्यवस्था पर कड़ी नजर रखे हुए है। सुरक्षा के लिए एनडीआरएफ, पुलिस बल और अधिकारियों की फौज तैनात है। किसी भी प्रकार की सुरक्षात्मक चूक नहीं हो इसके लिए चप्पे चप्पे पर सीसीटीवी कैमरे लगाए गए हैं जिससे मेले पर सख्त निगरानी की जा रही है। जिलाधिकारी रमन कुमार मेले की व्यवस्था को लेकर कड़े निर्देश जारी किये हैं।

शिवभक्त कावरियों के बोल बम की गूंज से पूरा संगम घाट शिवमय हो गया है । कावरियों की सुरक्षा को लेकर नदी में एनडीआरएफ एवं गोताखोर की टीम घाट पर तैनात है। घाट पर जलबोझी के दौरान सुरक्षा के लिए बैरिकेडिंग की गई है जिससे अधिक पानी में कावड़िया ना जा पाए। साथ ही जगह-जगह पर लगे सीसीटीवी कैमरा से भी सभी प्रकार की गतिविधियों की निगरानी की जा रही है। इस संबंध में जिलाधिकारी मोतिहारी रमन कुमार, ने बताया कि नदी में कावरियों की सुरक्षा को लेकर एनडीआरएफ को तैनात किया गया है। साथ ही संगम घाट से मेला छेत्र में पुलिस बल की तैनाती की गई है।

संगम घाट पर पर्याप्त रौशनी की व्यवस्था है। यहां प्राथमिक एवं आकस्मिक चिकित्सा व श्रद्धालुओं के लिए भोजन की विशेष व्यवस्था है। संगम घाट पर जलबोझी करने आने वाले कावरियों को कठिनाई नही हो इसके लिए देवापुर गांव तक रोशनी की पुख्ता व्यवस्था है। साथ ही कावंरियों को शुद्ध पेयजल उपलब्ध करवाने के लिए पीएचडी द्वारा एक दर्जन चापाकल लगाये गये हैं।। खबर है कि इस बार चार लाख से अधिक डाक बम जलबोझी करेंगे।

भवन निर्माण के एसडीओ हरेंद्र कुमार के निर्देशन में ठीकेदार मो. सफी द्वारा नदी में बैरिकेटिंग और चेंज रूम का भी निर्माण कराया गया है। वही मेला समिति द्वारा कावरियों के लिए निःशुल्क भोजन एवं शरबत की व्यवस्था है।

यहां की व्यवस्था में संगम प्रखंड विकास अंचल अधिकारी रोहित कुमार, कार्यक्रम पदाधिकारी प्रशांत मोहन ठाकुर , थाना अध्यक्ष विकास तिवारी, पचपकरी ओपी प्रभारी प्रमोद कुमार , दरोगा सुरेंद्र कुमार , दरोगा शिव जलेसर सिंह, बिरसा उरांव, मोनिंदर कुमार ,सहित दर्जनों पुलिस बल शामिल हैं।

नेपाल सहित कई जिले के कावरिये करते हैं जलबोझी

अंनत चतुर्दशी के अवसर पर अरेराज बाबा सोमेश्वर नाथ महादेव में जलाभिषेक के लिए बागमति नदी के संगम घाट देवापुर से नेपाल , सीतामढ़ी , शिवहर , दरभंगा , मुजफरपुर , मधुबनी , दरभंगा, बेतिया एवं जिले के सभी प्रखंडों के कांवरिये जल भरते हैं। मोतिहारी जिला अधिकारी रमन कुमार ने प्रखंड विकास पदाधिकारी पताही को मेले में प्लास्टिक युक्त निर्मित कचरा के संग्रहण व इसके निस्तारण के लिए डस्टबिन लगाने का निर्देश दिया। साथ ही मेले में बिक्री किये जा रहे खाद्य पदार्थों की नियमित जांच करने व मिठाई का प्रयोग नहीं करने का आदेश दिया है। मेला मधुबन फेन्हारा अंचल अधिकारी , प्रखंड विकास पदाधिकारी सहित सभी उपस्थित अधिकारियों को असामाजिक तत्वों पर निगरानी बनाए बनाए रखने को कहा गया है। जल बोझी के दौरान कांवरियों को किसी प्रकार की कठिनाई ना हो इसको लेकर सभी अधिकारियों को मुस्तैद रहने को कहा है। एसडीओ मेधावी ने बताया कि डाक बम मेला की पूरी तैयारी कर ली गयी है। कावरियों द्वारा जलबोझी किया जा रहा है। घाट पर पदाधिकारियों के साथ पुलिस बल भी तैनात हैं ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: