लुधियाना में राजीव गांधी की प्रतिमा पर पोती गई कालिख, हाथ लाल रंग से रंगे

Font Size

लुधियाना : वर्ष 1984 के सिख विरोधी दंगों में पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी के शामूलियत को लेकर पंजाब में राजनीति गरमाई हुई है। मंगलवार को लुधियाना के सलेम टाबरी में यूथ अकाली दल के कार्यकर्ताओं ने विरोधस्वरूप पूर्व प्रधानमंत्री की प्रतिमा के मुंह पर काला पेंट पोत दिया, जबकि हाथों पर लाल पेंट लगा दिया। इस घटना को उस समय अंजाम दिया गया, जब अकाली दल सहित अन्य कई संगठन पूर्व प्रधानमंत्री से भारत रत्न वापस लिए जाने की मांग कर रहे हैं।

पूर्व प्रधानमंत्री की प्रतिमा पर कालिख पोतने की वीडियो वायरल हुई तो लोगों को इसका पता चला। बताया जा रहा है कि कालिख पोतने वालों में यूथ अकाली कार्यकर्ता शामिल हैं। पेंट पोतने के दौरान वह यह कहते हुए सुनाए दे रहे हैं कि सरफरोशी की तमन्ना अब हमारे दिल में है देखना है जोर कितना बाजु-ए-कातिल में हैं। उन्होंने कहा कि उन्होंने प्रतिमा को सही रूप दिया है। मुंह पर कालिख पोती है और हाथ खूनी रंग (लाल) से रंगे हैं। उन्होंने सिख कत्लेआम के लिए पूर्व प्रधानमंत्री को सबसे बड़ा जिम्मेदार ठहराया।

उधर, घटना का पता चलते ही कांग्रेस नेता मौके पर पहुंच गए और उन्होंने पूर्व प्रधानमंत्री की प्रतिमा को साफ किया। कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने इस दौरान अकाली दल के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। यूथ कांग्रेस प्रधान राजीव राजा ने दोषियों के खिलाफ तत्काल मामला दर्ज करने की मांग की।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *