26/11 के दोषी आतंकी अजमल कसाब के नाम से यूपी में जारी हुआ प्रमाण पत्र, लेखपाल निलंबित

Font Size

औरैया: 26 नवंबर 2008 को मुंबई में खून की होली खेलने वाले पाकिस्तानी आतंकादी संगठन लश्कर-ए-तैयबा के आतंकी अजमल कसाब का जिन्न एक बार फिर बाहर निकल आया है। मुंबई में 26/11 को अंजाम देने वाले अजमल कसाब का यूपी के औराया जिले में निवास प्रमाण-पत्र जारी कर दिया गया। जिससे यूपी सहित पूरे देश में हड़कंप मच गया। दरअसल अजमल कसाब की फोटो सहित निवास प्रमाण-पत्र जारी करने की घोर लापरवाही बिधूना तहसील के अधिकारियों ने की है। आपको बता दें 2008 में अजमल कसाब इकलौता आतंकी था जिसे जिंदा पकड़ा गया था। सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद नवम्बर 2012 में उसे पुणे में फांसी दे दी गई थी।

बिधूना तहसील के अधिकारियों ने बड़ी लापरवाह का नमूना पेश करते हुए दुर्दात आतंकी अजमल कसाब की तस्वीर लगाकर किए गए आवेदन पर निवास प्रमाण-पत्र जारी कर दिया। बीती 21 अक्टूबर को किसी अज्ञात व्यक्ति ने अजमल कसाब का फोटो लगाकर आवेदन कर दिया था, जिस पर लेखपाल की रिपोर्ट लगने के बाद एसडीएम ने बिनी जांच-पड़ताल किए निवास प्रमाण-पत्र जारी कर दिया। आवेदन में कसाब के पिता का नाम मोहम्मद आमिर व मां का नाम मुमताज बेगम दर्ज किया गया था। मामला का संज्ञान लेकर एसडीएम ने प्रमाण-पत्र को तत्काल निरस्त करने के आदेश तो दिए ही, साथ ही लेखपाल को जवाब तलब कर निलंबित कर दिया गया है। एसडीएम बिधूना प्रवेंद्र कुमार ने पूरे मामले की जांच करवाई, जिसमें आवेदन में दिए गए तथ्य गलत साबित हुए और उन्होंने उक्त निवास प्रमाण-पत्र निरस्त करने के आदेश दिए। साथ ही लेखपाल को पहले नोटिस देते हुए स्पष्टीकरण मांगा है उसके बाद निलंबित कर दिया।

एसडीएम का यह है कहना-

इस पर बिधूना के एसडीएम प्रवेंद्र कुमार ने कहा कि मामले को संज्ञान में लेते हुए तुरंत जांच करवाई गई जिसमें इस नाम का कोई व्यक्ति उपरोक्त पते पर नहीं मिला। प्रमाण-पत्र को निरस्त करने के लिए एनआइसी को पत्र लिखा गया है। साथ ही लेखपाल से इस मामले में स्पष्टीकरण मांगा गया है साथ ही उन्हें लापरवाही बरतने के चलते निलंबित कर दिया गया है। इसी बात से अंदाजा लगाया जा सकता है कि आज भी बहुत सारे लापरवाह विभिन्न पदों पर तैनात है, और अपने भ्रष्टाचार के चलते बीना जांच पड़ताल के कुछ भी जारी कर देते हैं।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *