खेल महाकुंभ में रॉकफोर्ड कॉन्वेंट स्कूल गुरुग्राम की छात्रा कृतिका का राज्य स्तर पर हुआ चयन

Font Size

ताऊ देवीलाल स्टेडियम में आयोजित खेल प्रतिस्पर्धाओं के 4 x 400  रिले रेस में प्रथम स्थान हासिल किया 

कृतिका ने सीनियर ग्रुप में प्रथम स्थान हासिल कर राज्य स्तर पर अपना दबदबा बनाया 

रोक फोर्ड कान्वेंट स्कूल के निदेशक मुकेश डागर ने कृतिका को असेम्बली में किया सम्मानित 

गुरुग्राम : गुरुग्राम स्थित ताऊ देवीलाल स्टेडियम में आयोजित खेल प्रतिस्पर्धाओं के 4 x 400  रिले रेस में रॉकफोर्ड कॉन्वेंट सीनियर सैकेंडरी स्कूल गुरुग्राम की छात्रा कृतिका ने सीनियर ग्रुप में प्रथम स्थान हासिल कर राज्य स्तर पर अपना दबदबा कायम किया और स्कूल का नाम रौशन किया. स्कूल के खेल शिक्षक के निर्देशन में कड़ी मेहनत और लगन से वह इस मुकाम पर पहुंची।  इसका आयोजन 12 अक्टूबर को किया गया था. प्रदेश के मुख्य मंत्री मनोहर लाल ने प्रथम स्थान हासिल करने वाले खिलाड़ियों को प्रोत्साहन स्वरूप नकद पुरस्कार देने की घोषणा की. राज्य स्तर की सूचि में अपना नाम अंकित करने के लिए छात्रा कृतिका को रोक फोर्ड कान्वेंट स्कूल के निदेशक मुकेश डागर ने असेम्बली में सम्मानित किया.     

उल्लेखनीय है कि स्कूल स्तर के इस खेल महाकुम्भ का आयोजन हरियाणा खेल विभाग की ओर से किया गया था.  मुख्य मंत्री ने प्रथम स्थान प्राप्त करने वाले बच्चों को बधाई दी और प्रोत्साहन राशि की भी घोषणा की. उन्होंने बताया कि अगला राज्य स्तरीय खेल  अक्टूबर से नवम्बर माह के मध्य पंचकूला में आयोजित किया जाएगा. इसके लिए सीएम मनोहर लाल ने सभी को अपनी शुभकामनाएं देते हुए भविष्य की तैयारी करने की प्रेरणा दी साथ ही इन बच्चों को अगले आयोजन के लिए आमंत्रित भी किया । 

रोक फोर्ड कान्वेंट स्कूल के छात्र व छत्राओं द्वारा व्यक्तित्व विकास के विभिन्न क्षेत्रों में अलग पहचान बनाने से उत्साहित स्कूल के निदेशक मुकेश डागर ने असेंबली में प्रथम स्थान प्राप्त कृतिका को सम्मानित किया. इस अवसर पर उन्होंने अपने संबोधन में विद्यार्थियों को अपने लक्ष्य के प्रति लगनशील बनने की प्रेरणा दी. उन्होंने कहा कि जिस विषय या क्षेत्र में रूचि हो उसे हासिल करने का जज्बा भी स्वयं में पैदा करना चाहिए. खेल आज अंतर्राष्ट्रीय ख्याति का एक स्थापित प्रोफेशन बन चुका है और अगर विद्यार्थी इसे ही अपने भविष्य का आधार बनाना चाहे तो इसके लिए भी लगन व कड़ी  मेहनत की जरूरत पड़ती है. उन्होंने बल दिया कि अनुशासन इसका मुख्य आधार है. श्रो डागर ने हाल ही इंडोनेशिया में आयोजित 18वें एशियाई खेलों की चर्चा करते हुए कहा कि इसमें हरियाणा के कई खिलाड़ियों ने अपना जलबा दिखाया और देश के लिए स्वर्ण, रजत और कास्य पदक हासिल कर अंतर्राष्ट्रीय ख्याति प्राप्त की. उन्होंने बताया कि सभी खिलाड़ियों को हरियाणा सरकार ने पुरस्कार और सरकारी नौकरी देने की भी घोषणा की है.    

स्कूल की प्रबंधक नीता डागर ने भी बच्चों को प्राथर्ना सभा में सम्मानित कर इसी तरह अपनी जीत को जीवन में सदा बरक़रार रखने की शुभकामना दी. उन्होंने कहा कि हमारे स्कूल के लिए यह गर्व का विषय है कि खेल के क्षेत्र में हमारी बालिकाएं लगातार बेहतरीन प्रदर्शन कर रहीं हैं. इससे साबित होता है कि रोक फोर्ड कान्वेंट स्कूल में “बेटी बचाओ व बेटी पढाओ” के मूल मंत्र पर अक्षरशः अमल हो रहा है. हमें महिला होने के नाते अपनी छात्राओं की इन अनुकरणीय उपलब्द्धियों पर गर्व है. उन्होंने उम्मीद जताई की आगे भी स्कूल के अन्य विद्यार्थी भी जीत का सिलसिला जारी रखेंगे.

स्कूल की प्राचार्या रेनू चौहान ने भी बच्चों की निरंतर जीत और व्यक्तित्व विकास पर ख़ुशी जाहिर की. उन्होंने कहा कि किसी भी स्कूल के लिए ये क्षण बड़े महत्वपूर्ण और ऐतिहासिक होते हैं जब उनके छात्र-छात्राएं दूसरे संस्थानों के प्रतिद्वंदियों को पछाड़ कर स्कूल का नाम रौशन करते हैं. उन्होंने स्कूल के खेल अध्यापमांगे राम, मंजीत भारद्वाज तथा मनीषा यादव को इस शानदार जीत के लिए बधाई दी और भविष्य में भी रोक फोर्ड कान्वेंट स्कूल की खेल नर्सरी में दमदार खिलाड़ी तैयार करने को प्रोत्साहित किया .

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *