राहुल ने सभी सीमाएं लाँघ दी : अमित शाह

Font Size

राजनीतिक इच्छाशक्ति पीएम नरेंद्र मोदी की

नई दिल्ली: भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने शुक्रवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस आयोजित कर सर्जिकल स्ट्राइक के सम्बन्ध में एक बेतुके बयां के लिए राहुल गांधी की तीव्र आलोचना की. उन्होंने कहा कि कांग्रेस नेता ने खून की दलाली संबंधी अपनी टिप्पणी से सभी सीमाएं लांघ दी हैं. उनके शब्दों ने सेना की बहादुरी का अपमान किया है।

श्री शाह ने सर्जिकल स्ट्राइक के लिए भारतीय सेना को बधाई दी। उन्होंने  सर्जिकल स्ट्राइक पर अनर्गल सवाल उठाने वाले दलों व नेताओं के बयानों को देश को आह्बत करने वाला बताया . उनके अनुसार कांग्रेस उपाध्यक्ष के बयान से सेना का मनोबल गिरा है। उन्होंने स्पष्ट किया है कि यह सेना की उपलब्धि है लेकिन इसमें राजनीतिक इच्छाशक्ति पीएम नरेंद्र मोदी की है। अमित शाह ने कड़े शब्दों में कहा कि  सर्जिकल स्ट्राइक में सेना की भूमिका को कमतर करने के ऐसे नेताओं के प्रयास की मैं भर्तसना करता हूं।

सेना की बहादुरी का अपमान

भाजपा नेता ने कहा कि राहुल गांधी ने खून की दलाली संबंधी अपनी टिप्पणी से राजनीतिक मर्यादाओं कि सभी सीमाएं लांघ दी हैं. उनके शब्दों ने सेना की बहादुरी का अपमान किया है। श्री शाह ने आगाह किया कि सुरक्षा बलों की कार्रवाई पर राजनीति नहीं होनी चाहिए। उन्होंने स्पष्ट किया कि सरकार पूरी तरह से सेना के साथ है और पूरा देश आतंकवाद के खिलाफ एक साथ है. ऐसे में राहुल का बेतुका बयान अतिनिंदनीय है।

 

कांग्रेस क्यों गर्व महसूस नहीं कर रही ? 

 

उन्होंने याद दिलाया कि उनकी मन सोनिया गाँधी ने पहले मौत का सौदागर कहा , फिर जहर की खेती बताया और अब खून की दलाली जैसे शब्दों से देश को आहात किया है. मुझे नहीं पता इसका क्या आशय है। मैं जानना चाहता हूं कि क्या दलाली शब्द सेना के लिए था जो देश को बचाने के प्रयासों में लगी है?  उनका कहना है कि सर्जिकल स्ट्राइक के बाद देश गर्व महसूस कर रहा है। आखिर राहुल गांधी और कांग्रेस क्यों गर्व महसूस नहीं कर रहे ?

उल्लेखनीय है कि कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने गुरुवार को किसान रैली में अपने भाषण में कहा था कि जो हमारे जवान है, जिन्होंने अपना खून दिया है, जम्मू कश्मीर में जिन्होंने अपना खून दिया है, जिन्होंने हिंदुस्तान के लिए सर्जिकल स्ट्राइक किया है, उनके खून के पीछे आप (प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी) छुपे हुए हो, उनकी आप दलाली कर रहे हो, ये बिल्कुल गलत है। हिंदुस्तान की सेना ने हिंदुस्तान का काम किया है, आप अपना काम कीजिए, आप हिंदुस्तान के किसान की मदद कीजिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

You cannot copy content of this page
%d bloggers like this: