केन्द्रीय श्रम और रोजगार राज्यमंत्री संतोष गंगवार गुरुवार को लेबर ब्यूरो के पांच सर्वेक्षणों से संबंधित सॉफ्टवेयर एप्लिकेशन जारी करेंगे

Font Size

नई दिल्ली। केन्द्रीय श्रम और रोजगार राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) संतोष कुमार गंगवार कल चंडीगढ़ में लेबर ब्यूरो द्वारा किए जा रहे पांच अखिल भारतीय सर्वेक्षणों से संबंधित सॉफ्टवेयर एप्लिकेशन का शुभारंभ और प्रश्नावली से युक्त निर्देश पुस्तिकाएं जारी करेंगे। इस अवसर पर श्रम और रोजगार सचिव श्री अपूर्वा चंद्रा और वरिष्ठ श्रम एवं रोजगार सलाहकार तथा लेबर ब्यूरो के महानिदेशक श्री डीपीएस नेगी उपस्थित रहेंगे।

लेबर ब्यूरो द्वारा किए जा रहे पांच सर्वेक्षण हैं:

· प्रवासी श्रमिकों के बारे में अखिल भारतीय सर्वेक्षण,

· घरेलू कामगारों के बारे में अखिल भारतीय सर्वेक्षण,

· पेशेवरों द्वारा सृजित रोजगार के बारे में अखिल भारतीय सर्वेक्षण,

· परिवहन क्षेत्र में सृजित रोजगार के बारे में अखिल भारतीय सर्वेक्षण और

· स्थापना आधारित रोजगार के बारे में अखिल भारतीय त्रैमासिक सर्वेक्षण

घरेलू कामगारों के बारे में अखिल भारतीय सर्वेक्षण का उद्देश्य प्रमुख राज्यों और अखिल भारतीय स्तर पर श्रमशक्ति में घरेलू कामगारों के अनुपात और इन घरेलू कामगारों / घरों, जो उन्हें सामाजिक-जनसांख्यिकीय दृष्टि से महत्वपूर्णएवं अहम विशेषताओं के आधार पर नियोजित करते हैं, के प्रतिशत वार वितरण का अनुमान लगाना होगा।

प्रवासी श्रमिकों के बारे मेंकिये जाने वाले सर्वेक्षण का उद्देश्य भारत में प्रवासी श्रमिकों की संख्या का अनुमान लगाना और उनके रहन – सहन, काम करने की स्थितितथा अन्य सामाजिक-आर्थिक परिस्थितियों के बारे में जानकारी एकत्र करना है।

पेशेवरों द्वारा सृजित रोजगार के बारे में अखिल भारतीय सर्वेक्षण का अनिवार्य रूप से दोहरा उद्देश्य है- (i) देश में सक्रिय पेशेवरों की कुल संख्या का अनुमान लगाना और (ii) इन पेशेवरों द्वारा सृजित रोजगारोंको संकलित करना।

परिवहन क्षेत्र में सृजित रोजगार के बारे में सर्वेक्षण का उद्देश्य भारत में परिवहन क्षेत्र में सृजित रोजगार का आकलन करना है।

स्थापना आधारित रोजगार के बारे में अखिल भारतीय त्रैमासिक सर्वेक्षण का मुख्य उद्देश्य भारतीय अर्थव्यवस्था के 8 महत्वपूर्ण क्षेत्रों को कवर करने वाले गैर-कृषि अर्थव्यवस्था के व्यापक क्षेत्र में क्रमिक तिमाहियों में रोजगार की स्थिति में सापेक्षिक परिवर्तन को मापना है।

रिपोर्ट तैयार करने के लिए आंकड़ों के संग्रहण की पूरी श्रृंखला में सूचना प्रौद्योगिकी (आईटी) के उपयोग के संदर्भ में ब्यूरो द्वारा की जा रही अग्रणी पहल की दृष्टि से ये सर्वेक्षण बेहद महत्वपूर्ण हैं। इन सर्वेक्षणों के परिणाम 7-8 महीनों के भीतर घोषित किये जायेंगे, जिसमें 6 महीने के फील्ड वर्क भी शामिल हैं।

लेबर ब्यूरो,  जोकि श्रम और रोजगार मंत्रालय का एक संबद्ध कार्यालय है, 1920 से श्रम और रोजगार के क्षेत्र में विभिन्न हितधारकों की आंकड़ों से संबंधित जरूरतों को पूरा करने में सबसे आगे रहा है। श्रम से जुड़े आंकड़ों का भंडार होने के अलावा,  लेबर ब्यूरो महत्वपूर्ण आंकड़ों के संकलन एवंसृजन, मूल्य सूचकांक और श्रम के विभिन्न पहलुओं पर कई सर्वेक्षण और अध्ययन करने के लिए भी राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर प्रसिद्ध है।

***

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You cannot copy content of this page