खेड़कीदौला टोल प्लाजा 6 माह के अंदर शिफट हो जाएगा, जमीन की पहचान हो चुकी : मनोहर लाल

56 / 100
Font Size

गुरूग्राम, 13 फरवरी। गुरूग्राम जिला में मानेसर के उद्यमियों के लिए परेशानी का सबब बना खेड़कीदौला टोल प्लाजा अगले 6 महीने के अंदर-अंदर शिफट हो जाएगा। इसके लिए जमीन की पहचान की जा चुकी है।

यह घोषणा आज हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने गुरूग्राम जिला के आईएमटी मानेसर स्थित एचएसआईआईडीसी आॅडिटोरियम में आयोजित कार्यक्रम में की। इस कार्यक्रम में मानेसर क्षेत्र के प्रमुख लोगों तथा ग्राम पंचायतों ने मानेसर नगर निगम का गठन करने के लिए मुख्यमंत्री मनोहर लाल का आभार व्यक्त किया।

कार्यक्रम में बोलते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि मानेसर क्षेत्र के 29 गांवो को शामिल करके मानेसर नगर निगम बनाया गया है। अब इस नगर निगम की वार्डबंदी होगी और फिर चुनाव होंगे। यह वर्तमान सरकार के इस कार्यकाल का पहला नगर निगम बनाया गया है और इसके चुनाव होने तक प्रशासनिक कार्य नगर निगम आयुक्त मुनीष शर्मा देखेंगे। क्षेत्र के विकास में निगम आयुक्त का सहयोग करने के लिए 21 सदस्यों का एक एडवाइजरी बोर्ड बनाया जाएगा। इसमें पटौदी तथा बादशाहपुर के दोनों विधायकों , गुरूग्राम ब्लाॅक समिति के चेयरमैन , औद्योगिक एसोसिएशन के 2-3 सदस्यों , 2-3 सरपंचो आदि सहित क्षेत्र के प्रमुख व्यक्तियों को शामिल किया जा सकता है। मानेसर क्षेत्र के विकास के लिए जो भी नई मांग आएंगी या प्रौजेक्ट तैयार होंगे , उन सब में यह एडवाइजरी बोर्ड निगम आयुक्त का सहयोग करेगा।

मुख्यमंत्री ने कहा कि नगर निगम मानेसर बनने के बाद अब इस क्षेत्र में सीवरेज , ड्रेनेज , स्ट्रीट लाइट , सड़कों , पार्क , ट्रैफिक व्यवस्था में सुधार, हाॅर्टिकल्चर संबंधी कार्य, पेयजल व्यवस्था आदि के समुचित प्रबंध किए जाएंगे। सोलिड वैस्ट मैनेजमेंट अर्थात् कचरा प्रबंधन के लिए भी टैंडर होंगे। उन्होंने कहा कि हर प्रोपर्टी की आईडी बनेगी और प्रोपर्टी आईडी के साथ उसकी कीमत भी जोड़ी जाएगी, जिसे कलैक्टर रेट कहते हैं। यह कार्य प्रोपर्टी मालिक की सैल्फ डिक्लेयरेशन तथा निगम द्वारा किया गया आंकलन दोनो तरीकों से करेंगे। इस बीच गुरूग्राम नगर निगम के आयुक्त और मानेसर नगर निगम के पहले आयुक्त रह चुके विनय प्रताप सिंह ने बताया कि प्रोपर्टी आईडी के लिए सर्वे का काम शुरू करवा दिया है। सोमवार से तहसीलों में काउंटर लग जाएंगे।

मुख्यमंत्री ने विधायक सत्यप्रकाश जरावता द्वारा रखी गई मांगो का उल्लेख करते हुए कहा कि मानेसर क्षेत्र के 24 गांव तथा 9 ढाणियों के लिए 61 करोड़ रूप्ये की पेयजल आपूर्ति योजना मंजूर की जा चुकी है। इसके अलावा, 73 गांव तथा 17 ढाणियों में अगले एक साल में आवश्यकता अनुसार पानी उपलब्ध करवाया जाएगा। उन्होंने पेयजल के अलावा, बागवानी तथा औद्योगिक कार्यों में सिवरेज के शोधित पानी का प्रयोग करने पर बल दिया ताकि शुद्ध पेयजल पीने के लिए ही प्रयोग हो।

मुख्यमंत्री ने उपस्थित लोगों को विश्वास दिलाया कि मानेसर नगर निगम क्षेत्र में विकास के लिए धन की कमी नही आने दी जाएगी क्यांेकि उन्हें इस इलाके पर भरोसा ज्यादा है। उन्होंने कहा कि नगर निगम गुरूग्राम में लगभग 1 हजार करोड़ रूप्ये की राशि विभिन्न बैंको में जमा करवा रखी है। मानेसर क्षेत्र तो उस नगर निगम से ज्यादा स्मृद्ध है , यहां पर औद्योगिक ईकाइयां और उंची अटालकाएं ज्यादा हैं। ऐसे में आप लोग अपने खर्च से ज्यादा ही जमा कर पाएंगे।

इससे पहले अपने विचार रखते हुए पटौदी के विधायक सत्यप्रकाश जरावता ने मानेसर नगर निगम बनाने के लिए क्षेत्रवासियों की तरफ से मुख्यमंत्री का आभार जताया और कहा कि पटौदी क्षेत्र में मुख्यमंत्री से जो भी मांग की गई , उससे कई गुणा मिला है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री से मानेसर के लिए नगर परिषद् के लिए मांग की गई थी तो इन्होंने उससे बढ़कर नगर निगम बना दिया। विधायक ने विश्वास दिलाया कि मानेसर नगर निगम देश का श्रेष्ठ निगम होगा। उन्होंने मानेसर क्षेत्र की कुछ मांगे भी मुख्यमंत्री के समक्ष रखी। क्षेत्र के सभी सरपंचो की तरफ से गांव सिकंदरपुर के सरपंच सुंदरलाल ने मानेसर नगर निगम बनाने के लिए मुख्यमंत्री का धन्यवाद किया।

इस अवसर पर मुख्यमंत्री के मीडिया सलाहकार अमित आर्य , पब्लिक सेफटी , गुड गर्वनेंस तथा ग्रीवेंस एडवाइजर अनिल राव, सोहना के विधायक संजय सिंह, पटौदी के विधायक सत्यप्रकाश जरावता, बादशाहपुर के विधायक राकेश दौलताबाद , भाजपा की जिला अध्यक्ष गार्गी कक्कड़, जिला परिषद् चेयरमैन कल्याण सिंह चैहान, गुरूग्राम नगर निगम आयुक्त विनय प्रताप सिंह, मानेसर नगर निगम आयुक्त मनीष शर्मा , उपायुक्त डा. यश गर्ग , पुलिस आयुक्त के के राव सहित कई गणमान्य व्यक्ति उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You cannot copy content of this page