राष्ट्रपति कोविंद ने 72 वें गणतंत्र दिवस पर तिरंगा फहराया व भव्य परेड की सलामी ली, राजपथ पर सैन्य ताकत व सांस्कृतिक विरासत का प्रदर्शन

Font Size

सुभाष चौधरी

नई दिल्ली । देश के राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने आज 72 वें गणतंत्र दिवस के अवसर पर राजपथ पर राष्ट्रीय झंडा तिरंगा फहराया और भव्य परेड की सलामी ली। इस अवसर पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, उपराष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू , केंद्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, सीडीएस जनरल बिपिन रावत एवं सेना के तीनों अंगों के प्रमुखों ने भी तिरंगे को सलामी दी। वर्षों की परंपरा के अनुसार भारत की आन बान और शान राष्ट्रीय तिरंगे को 21 तोपों की सलामी दी गई। राष्ट्रपति भवन से लेकर नेशनल स्टेडियम तक आयोजित भव्य गणतंत्र दिवस परेड में 1 दर्जन से अधिक राज्यों , विभिन्न मंत्रालयों एवं सेना के तीनों अंगों व अर्ध सैनिक बलों की टुकड़ियों ने राजपथ पर मार्च किया। देश की सैन्य ताकत से लेकर सांस्कृतिक विरासत का समागम प्रस्तुत किया गया। दिल्ली एवं कोलकाता सहित अन्य राज्यों से चयनित स्कूली बच्चों की टीम ने भी शानदार सांस्कृतिक प्रदर्शन कर अलग-अलग विषयों पर संदेश दिया। गणतंत्र दिवस की परेड में पहली बार भारत की सीमाओं को अभेद्य बनाने वाले रफेल विमान ने भी दुश्मनों को दिल दहला देने वाली गर्जना की।

परेड से पूर्व प्रधानमंत्री @narendramodi राजपथ पहुंचे, उनका स्वागत रक्षा मंत्री @rajnathsingh ने किया। उनके बाद उपराष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू पहुंचे जिन की अगवानी स्वयं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी केंद्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने की। परेड शुरू होने से कुछ समय पहले देश की प्रथम महिला सविता कोविंद पहुंची और उनके ठीक बाद गणतंत्र दिवस परेड के प्रमुख एवं देश के संविधान कि अभिभावक एवं सेना के तीनों अंगों के प्रमुख राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद का काफिला पहुंचा।

आज की परेड में रफेल विमान से लेकर ब्रह्मोस मिसाइल तक का प्रदर्शन कर राजपथ ने देश के दुश्मनों को अपनी सीमा में ही रहने का सख्त और सधा हुआ संदेश दिया । परेड में सबसे शक्तिशाली टैंक #T90 भीष्म टैंक भी शामिल रहा जिसका नेतृत्व कैप्टन करनवीर सिंह भांगू ने किया।ये भारत का प्रमुख युद्धक टैंक है, जिसका आर्मर्ड प्रोटेक्‍शन शानदार है और यह जैविक और रासायनिक हथियारों से निपटने में सक्षम है।

परेड में बांग्लादेश की टुकड़ी ने भी गणतंत्र_दिवस परेड में राष्ट्रपति #RamNathKovind को सलामी दी।उन्हें खास तौर से मित्र देश के रूप में आमंत्रित किया गया था।

परेड में 861 मिसाइल रेजिमेंट की ब्रह्मोस शस्त्र प्रणाली के ब्रह्मोस मिसाइल दस्ते को लीड करते कैप्टन कमरूल जमान ने देश को सुरक्षा के प्रति आश्वस्त किया। पिनाका मल्टी लांचर प्रणाली का नेतृत्व कैप्टन विभोर गुलाटी ने किया।उनका आदर्श वाक्य : Do it Right-first Time & Every Time है।

भारतीय वायुसेना की झांकी भी राजपथ पर सलामी मंच के सामने से गुजरी। इस दस्ते में शामिल रही देश की पहली तीन महिला फाइटर पायलटों में शामिल फ्लाइट लेफ्टिनेंट भावना कंठ ।

गणतंत्र दिवस परेड में पूरे जोश और अनुशासन के साथ कदमताल कर आगे बढ़ती महिला शक्ति…NCC के महिला दस्ते का नेतृत्व सीनियर ऑफिसर समृद्धि हर्षल संत ने किया। बेहतरीन संतुलन का प्रदर्शन किया।

राजपथ पर महात्मा बुद्ध के चित्र और ‘ॐ मणिपद्मे हूँ’ की सुरीली धुन के साथ पहली बार केंद्र शासित प्रदेश लद्दाख #Ladakh की झांकी ने अपने थीम ‘Vision of the future’ के साथ मार्च किया। लोगो को यह झाँकी खूब भाई।

राजपथ @DRDO_India की झांकी, एंटी टैंक गाइडेड मिसाइल का भी प्रदर्शन किया गया। देश मे आधुनिक हथियारों के निर्माण में आत्मनिर्भर भारत का संदेश दिया।

राष्ट्रीय सुरक्षा गार्ड के जोशीले जवान भी Rajpath पर उतरे और मार्च करते हुए सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम को दर्शाया। इन्हें ब्लैक कमांडो भी कहा जाता है। इसमें बम निरोधक स्कवॉड भी शामिल था।

गणतंत्र_दिवस परेड में BSF_India का ऊंट सवार दस्ता और ऊंट सवार बैंड, डिप्टी कमांडेंट घनश्याम सिंह के नेतृत्व में शामिल हुआ।

अयोध्या में बनने वाले भव्य राम मंदिर #RamMandir के निर्माण से जुड़ी झांकी भी प्रस्तुत की गई। इस बार #UttarPradesh की झांकी, राज्य की वृहद सांस्कृतिक मूल्यों को संजोए हुई रही। Rajpath पर हमारी समृद्ध सांस्कृतिक विरासत की अद्भुत छटा बिखेरती त्रिपुरा की झांकी ने भी लोगों को आनंद का अहसास कराया।गणतंत्र_दिवस परेड में शामिल @MIB_India की झांकी भी शामिल हुई। इस झांकी के माध्यम से #Vocal4Local को दर्शाते हुए मेड इन इंडिया की झलक दिखाई गई।

गणतंत्र दिवस परेड के अंतिम चरण में देश की सुरक्षा में जुड़ी राफेल की उड़ान तो वर्टिकल ‘चार्ली’ फॉरमेशन ने आसमान में हुंकार भारी। एयरफोर्स के फाइटर प्लेन, हेलीकॉप्‍टर्स, फाइटर जेट्स, ट्रांसपोर्ट एयरक्राफ्ट के अलावा विंटेज डकोटा ने भी इस अवसर पर दम दिखाया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You cannot copy content of this page